सिने तारिका आलिया भट्ट की एक बचपन की तस्वीर को chaskatimes.com नामक एक वेबसाइट की एक ऑनलाइन लेख में जगह मिली जिसमें वो अपने पिता और मशहूर फ़िल्म निर्देशक महेश भट्ट की गोद में बैठी दिखाई दे रही हैं।

लेख का शीर्षक कहता है “सिनेमा जगत की इस महशूर अभिनेत्रीने खुद कबूला कि उसने अपनी वेर्गिनिटी खो दी थी वो भी अपने ही पिता के साथ”। यह लेख एक बड़े लेख की चौथी कड़ी है जिसके तीसरे भाग में आलिया अपनी बड़ी बहन और बॉलीवुड अभिनेत्री पूजा भट्ट के साथ हैं जिसमें पूजा भट्ट अपनी छोटी बहन आलिया को गले लगाती दिख रहीं हैं।

chaska times pooja bhatt embracing alia bhatt

लेख के चौथे और आख़िरी हिस्से में ये पता चलता है कि दरअसल, जिस अभिनेत्री के बारे में ये लेख लिखा गया है, वो ब्रिटिश अभिनेत्री कारा डेलेवीन हैं। आम तौर पर, इस तरह की कहानियां चर्चा का केंद्र बन जाती हैं जिसे मीडिया में काफी तवज्जो भी मिलती है और इस लेख का तो एक प्रामाणिक भी स्रोत नहीं है। पिता-पुत्री की जोड़ी के यौन संबंधों का दावा करनेवाला एक मात्र लेख एक ऐसी वेबसाइट india.com पर है जो ‘पैसे के लिए सामग्री तैयार’ करने के लिये जानी जाती है। यह आपको इस निष्कर्ष पर ले जाता है कि यह एक पकी-पकाई कहानी है।

chaskatimes.com के लेख में अलिया भट्ट और महेश भट्ट की तस्वीर लगाने का उद्देश्य ढेर सारी क्लिक प्राप्त करना था। चार भाग के इस ‘लेख’ के प्रत्येक भाग में सामग्री की तुलना में विज्ञापन ज्यादा है। लेखन के इस स्वरूप का अनुसरण इस वेबसाइट के लगभग हर एक पोस्ट में किया गया है। जान पड़ता है कि ज्यादा पैसा बनाने का शॉर्ट-कट सन-सनी खेज पोस्ट लिखना है, जिस में से कई तो स्पष्टरूप से फर्जी होते हैं। Chaskatimes.com के प्रत्येक पृष्ठ पर एक कॉपीराइट नोटिस है,“© Copyright 2015 – Insist Post Media Enterprises“।

InsistPost.com नामक एक और वेबसाइट है जो कि Chaskatimes.com के पद्-चिन्हों पर चल रही है। इसके ज्यादातर लेख सेक्स, बिस्तर में समय सीमा को कैसे बढ़ाएं, महिलाएं सेक्स के दौरान अपनी आँखें बंद क्यों करती हैं, कैसे आलिया भट्ट के पास अक्ल नहीं है लेकिन वो सेक्स में एक विशेषज्ञ हैं जैसे मुद्दे पर केंद्रित होते हैं।

सेक्स के मुद्दे पर अपने पाठकों को सलाह देने के अलावे InsistPost नामक यह वेबसाइट अपना काफी समय भाजपा, आरएसएस और प्रधानमंत्री मोदी की प्रशंसा एवं बचाव करने में लगाती है।

Insistpost posts defending bjp, Modi and RSS

इस लेख के लिखते वक्त, InsistPost का ट्रैफिक FirstPost से ज्यादा था जब कि, FirstPost Network18 मीडिया समूह के स्वामित्ववाली वेबसाइटों में से एक है। वेब एनालिटिक्स में माहिर Alexa.com के अनुसार, InsistPost की वैश्विक रैंक 1477 है, जबकि FirstPost की 2018। यानी FirstPost InsistPost से 541 के एक बड़े अन्तर से नीचे है। देश के एक बड़े मीडिया समूहों में से एक की वेबसाइट को एक ऐसी वेबसाइट ने पछाड़ दिया गया है जो कि बेतुकी कहानियों से बनी है।

InsistPost FirstPost traffic rank comparison

LinkedIn और Instagram की मानें तो इस बेहद सफल वेबसाइट के पीछे अंकित पांडे नामका एक युवक है।

Ankit Pandey LinkedIn Profile

Ankit Pandey Instagram Profile

अंकित पांडे के फेसबुक और इंस्टाग्राम प्रोफाइल में उनकी कई तस्वीरों में वो भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ दिखाई दे रहे हैं जिस में अमित शाह और स्मृति ईरानी और भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय शामिल हैं। नीचे दी गई तस्वीर में, नीली शर्ट में व्यक्ति जिस के चेहरे पर लाल घेरा लगाया गया है, अंकित पांडे है, जब कि उसके दाहिने रुद्ररवि शर्मा हैं जो खुद को InsistPost के प्रबंध निदेशक होने का दावा करते हैं।

Ankit Pandey with Amit Shah

Ankit Pandey with Smriti Irani

From Left to Right: Ankit Pandey, BJP Spokesperson Shrikant Sharma, Rudra Ravi Sharma, BJP IT Cell Head Amit Malviya
बाएं से दाएं: अंकित पांडे, भाजपा प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा, रुद्रारवि शर्मा, भाजपा आईटी सेल हेड अमित मालवीय

कैसे InsistPost भारत की शीर्ष रैंकिंग मीडिया कंपनियों के स्वामित्ववाली वेबसाइटों को हरा सकने लायक इतनी सारी सामग्री जुटाने का प्रबंधन करता है? गूगल के मुताबिक InsistPost काई -58, नोएडा सेकंड 3, ब्लॉक ई, सेक्टर 3, गौतम बुद्ध नगर, उत्तर प्रदेश 201301 में पूरी तरह से काम काजी कार्यालय है। कार्यालय की कई तस्वीरें Google पर उपलब्ध हैं। हमने अंकित पांडे के फेसबुक और इंस्टाग्राम प्रोफाइल पर उपलब्ध तस्वीरों के साथ Google पर उपलब्ध तस्वीरों की जांच की और वे मैच करते पाये गये।

Insist Post Office Pictures on Google Maps

यह मानते हुए कि सामग्री सब कुछ है और राजनीतिक दोस्ती भी ज़रूरी है, लेकिन एक वेबसाइट चलाने के लिए ढेर सारी ट्रैफिक की भी ज़रूरत पड़ती है। जैसाकि Hindutva.info के altnews एक्सपोज़ में देखा गया, insistpost की साझेदारी कई अन्य फेसबुक पेज के साथ होती है और साथ ही साथ इनके खुद के भी कई फेसबुक पेज होते हैं। इस लेख के लिखते वक्त insistpost के मुख्य फेसबुक पेज के 11 लाख से अधिक फौलोवर हैं। यह पेज insistpost.com के साथ-साथ chaskatimes.com पर भी ट्रैफिक बढ़ाता है (उदाहरण1, 2, 3, 4, 5, 6)।

InsistPost के साथ-साथ ISupportNaMo और SanghParivar.org नामक दो ऐसे फेसबुक पेज हैं जो रोज इनके पोस्ट शेयर करते हैं। ISupportNamo के 1 करोड़ 35 लाख से ज़्यादा और SanghParivar.org के 11 लाख से ज़्यादा फौलोवर हैं। InsistPost के अलावे, ये पेज ViralInIndia.in और NewsRoomPost.com नामक दो और वेबसाइटों की चीज़ें भी शेयर करते हैं। इन वेबसाइट के बारे में हम भविष्य में Alt News पर अलग से आर्टिकल पेश करेंगे।

हमें एक और फेसबुक पेज मिला जो InsistPost और ChaskaTimes की चीज़ें शेयर करता है। उदाहरण के तौर पर Beautiful Punjabi Models page नामक पेज InsistPost और ChaskaTimes के आर्टिकल्स के साथ-साथ खूबसूरत युवतियों की तस्वीरें भी शेयर करता है। यह सब एक खास रणनीति के साथ किया जाता है। किसी सेलेब्रटी या किसी खास थीम के तहत फौलोवर का ग्रुप तैयार करो, उनसे सम्बंधित चीज़ें शेयर करो फिर एक समय के बाद इनके साथ प्रोपेगंडा वेबसाइटस की सामग्री भी परोसनी शुरू कर दी जाती है।

https://www.facebook.com/Beautiful-Punjabi-Models-992769217486165/
https://www.facebook.com/thaluaclub/
https://www.facebook.com/Ab.Hoga.Asli.Nirman/
https://www.facebook.com/ayurvedagharelunuskhe/
https://www.facebook.com/RohitSardanaSudhirChaudharyFanClub/
https://www.facebook.com/iSupportIndianArmy/
https://www.facebook.com/BharatiyaYoddhaSamuha/
https://www.facebook.com/iTrustBJP/
https://www.facebook.com/I.Support.Ajit.Doval/
https://www.facebook.com/We-Support-India-1638811479468887/
https://www.facebook.com/We-Support-Narendra-Modi-241934229569399/
https://www.facebook.com/clean.thoughts.1/
https://www.facebook.com/manpasandjankari/
https://www.facebook.com/shifujiFansClub/

हालाँकि ऐसे कई सारे पेज हैं जो InsistPost ग्रुप की वेबसाइटस को बहुत ज़्यादा ट्रैफिक प्रदान करते हैं परन्तु इस लेखको संछिप्त बनाये रखने के उद्देश्य से उन्हें यहाँ वर्णित नहीं किया गया है। इन फेसबुक पेजों की संयुक्त पहुँच लाखों लोगों तक है। और इस तरीके से InsistPost की वेबसाइट 105 वीं पायदान पर पहुँचने में कामयाब हुई है।

हो सकता हैं की InsistPost जैसी वेबसाइटस चलानेवाले किसी ख़ास विचारधारा में यकीन करते हों, लेकिन वजह सिर्फ यही नहीं हो सकती। बहुत जल्द पैसा बनाने की चाह भी इन वेबसाइटस की सामग्री से झलकती है। अंकित पांडेय के निजी फेसबुक प्रोफाइल पर साझा की गई कर्मचारियों की तस्वीरों से पता चलता है कि उनमें से कई लोगोंने यातो अभी-अभी स्नातक की पढ़ाई पूरी की है या फिर कुछ लोग अभी भी स्नातक कर रहे हैं। यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है कि युवकों का एक समूह अपनी रचनामकता ऐसी चीज़ों में व्यर्थ कर रहा है।

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of