सोशल मीडिया पर राहुल गांधी की 28 सेकंड की एक वीडियो क्लिप काफ़ी शेयर की जा रही है. वीडियो में राहुल गांधी कहते हैं – “आपने देखा होगा, अभी गांधीजी की फ़ोटो देखी आपने. गांधीजी के साथ आपको 3-4 महिलाएं दिखेंगी ही दिखेंगी. सही, मोहन भागवत के साथ आपने किसी महिला की फोटो देखी है? कभी देखी है? हो ही नहीं सकता.”

भाजपा सदस्य कपिल मिश्रा ने वीडियो ट्वीट करते हुए राहुल गांधी पर तंज कसा और कहा कि उन्हें महात्मा गांधी के आस-पास रहनेवाली महिलाओं के इंटरव्यू, डायरी पढ़ने की ज़रूरत है. (आर्काइव लिंक)

एशियानेट न्यूज़ ने ये वीडियो क्लिप ट्वीट किया. (आर्काइव लिंक)

इंडिया टुडे के एग्ज़ीक्यूटिव एडिटर शिव अरूर ने भी ये वीडियो ट्वीट किया.

फ़ेसबुक पर भी ये क्लिप शेयर की गई है.

 

Rahul Gandhi slams and criticizes Mohan Bhagwat for not having 3-4 women around him like Mohan Das Karamchand Gandhi always had.

Please comment your thoughts?

Posted by Sharansh Guha on Wednesday, 15 September 2021

फ़ैक्ट-चेक

ऑल्ट न्यूज़ ने इस वीडियो की असलियत जानने के लिए इंडियन नेशनल कांग्रेस का यूट्यूब चैनल खंगाला. 15 सितंबर 2021 को राहुल गांधी ने महिला कांग्रेस दिवस पर महिलाओं को संबोधित किया था. इसका वीडियो यूट्यूब पर अपलोड किया गया है. वीडियो में 17 मिनट 52 सेकंड पर वो हिस्सा दिखता है जो वायरल हो रहा है. वायरल क्लिप वाले हिस्से के बाद राहुल गांधी कहते हैं – “क्योंकि उनका संगठन महिला शक्ति को दबाता है. क्रश करता है. हमारा संगठन महिला शक्ति को एक प्लेटफ़ॉर्म देता है.”

ऑल्ट न्यूज़ के को-फ़ाउन्डर मोहम्मद ज़ुबैर ने शिव अरूर के ट्वीट को कोट-ट्वीट करते हुए मूल वीडियो ट्वीट किया.

ANI के पत्रकार सिद्धार्थ शर्मा ने शिव अरूर के ट्वीट को कोट-ट्वीट करते हुए बताया था कि वो इस कार्यक्रम में मौजूद थे. उन्होंने कहा कि ये वीडियो ग़लत संदर्भ के साथ शेयर किया जा रहा है.

यानी, राहुल गांधी के भाषण का एक हिस्सा शेयर करते हुए ये दिखाने की कोशिश की गई कि राहुल गांधी, महात्मा गांधी के चरित्र पर उंगली उठा रहे थे. इससे पहले भी महात्मा गांधी की एक एडिटेड तस्वीर शेयर करते हुए उनपर निशाना साधा गया था. पहले भी कई बार राहुल गांधी के वीडियोज़ का आधा-अधूरा हिस्सा शेयर कर उनपर निशाना साधा गया था.


असम के न्यूज़ चैनल्स और पत्रकारों ने रोहिंग्या मुसलमानों की गिरफ़्तारी की ग़लत ख़बर दिखायी :

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged: