CNN News18 ने मलेशिया द्वारा ज़ाकिर नाइक के प्रत्यर्पण के बारे में असत्यापित दावा किया

विवादास्पद इस्लामिक उपपदेशक ज़ाकिर नाइक के लिए इंटरपोल से भारत रेड कार्नर नोटिस प्राप्त करने में असमर्थ रहा, उसके एक दिन बाद यानि 30 जुलाई, 2019 को CNN News18 ने एक ब्रेकिंग न्यूज़ ट्वीट किया कि,“मलेशिया ने ज़ाकिर नाइक को शरण देने से इनकार कर दिया और मोदी सरकार ने उनके खिलाफ सबूत देने के बाद उससे देश छोड़ने के लिए भी कहा गया”-(अनुवाद)।

यह एक बड़ी खबर थी क्योंकि एक महीने पहले ही विदेश मंत्री दातुक सैफुद्दीन अब्दुल्ला ने कहा था कि मलेशिया मनी-लॉन्ड्रिंग के आरोपों का सामना कर रहे ज़ाकिर नाइक को उनके देश में वापस प्रत्यापित करने के आवेदन को स्वीकार नहीं कर रहा है।

अन्य किसी मीडिया संगठन ने इस खबर को प्रकाशित नहीं किया

इस विशेष CNN News18 की खबर के बारे में संदेह हुआ कि मलेशिया ने ज़ाकिर नाइक से देश छोड़ने को कहा, क्योंकि किसी भी अन्य भारतीय या मलेशियाई समाचार संगठन ने इस कथित विकास की सूचना नहीं दी थी। इसके अलावा, CNN News18 की रिपोर्ट इस बात पर विरोधाभास दिखाई देती है कि खबर के एक दिन पहले ही मलेशियाई प्रधानमंत्री महाथिर मोहम्मद ने तुर्की चैनल TRT के साथ एक विशेष साक्षात्कार में इस सदर्भ के बारे में कुछ और ही कहा था। यहां पर देखिये कि ज़ाकिर नाइक के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कैसा जवाब दिया था।

प्रश्न: “मुझे आश्चर्य है कि अगर आप ज़ाकिर नाइक से परिचित हैं जो कि इस समय आपके देश में मौजूद है और वह एक इस्लामिक विद्वान के रूप में प्रचलित हैं, फ़िलहाल भारतीय उन्हें विदेशों में देखते हैं और भारत उन्हें वापस नहीं पाना चाहता है क्योंकि वे नफ़रत फैलाने वाले भाषण का प्रचार करते हैं। क्या आप इससे सहमत हैं?”-(अनुवाद)।

प्रतिक्रिया: “हाँ, मलेशिया में कई धर्मो कई मज़हबो के लोग रहते है, हम ऐसा कोई नहीं चाहते हैं कि जो हमारे यहां आए और अपनी जाति, धर्म के बारे में और अन्य धर्मों के बारे में नफ़रत पूर्ण विचार व्यक्त करे हालांकि वे हमारे साथ नहीं है लेकिन इससे अलग हम उन्हें देश से निकल नहीं सकते है क्योंकी और कोई देश उसे अपने यहां लेना नहीं चाहते है”-(अनुवाद)।

इस पूरे साक्षत्कार को आप यहां पर देख सकते है।

मलेशियाई प्रेस ने भी किया रिपोर्ट

स्थानीय मलेशियाई प्रेस ने भी रिपोर्ट दी है कि यह सच नहीं है कि सरकार ने ज़ाकिर नाइक को शरण देने से इनकार कर दिया है। सरकारी सूत्रों का हवाला देते हुए, FMT न्यूज ने बताया कि यह खबर सच नहीं थी। “एक सरकारी सूत्र ने भारत की इस समाचार रिपोर्ट से इनकार किया है कि पुत्रजया डॉ.ज़ाकिर नाइक को शरण देने से इनकार कर रहा है और उन्होंने विवादास्पद उपदेशक को मलेशिया छोड़ने के लिए कहा है”-(अनुवाद)।

इसके अलावा, आज तक ने भी मलेशिया के गृह मंत्रालय के हवाले से इस खबर को गलत बताया है कि मलेशिया ज़ाकिर नाइक को प्रत्यापित कर रहा है।

इन सभी खंडन के साथ, CNN News18 द्वारा ज़ाकिर नाइक के प्रत्यार्पण के बारे में किया गया दावा गलत साबित होता है। चैनल की ओर से कोई अपडेट नहीं आने के बाद यह सामने आता है कि उनके द्वारा की गई ब्रेकिंग न्यूज झूठी हो सकती है।

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend