मीडिया की गलत खबर: ‘लॉलीपॉप लागेलु’ गाना लंदन में क्रिकेट वर्ल्ड कप के जश्न में बजाया गया

भोजपुरी गीत ‘लॉलीपॉप लागेलु’ पर नाचते विभिन्न नस्लों के लोगों के एक वीडियो को लेकर कई मीडिया प्रकाशनों द्वारा इस रूप में खबर की गई है कि लंदन में विश्व कप के दौरान क्रिकेट प्रशंसक इस गाने पर नाच रहे हैं। नवभारत टाइम्स ने 13 जून को इस शीर्षक की रिपोर्ट में ऐसा दावा किया- “DJ वाले ने बजाया बिहारी गाना, लंदन में सड़क पर ही नाचने लगे अंग्रेज।”

द इंडियन एक्सप्रेस ने 13 जून को इसी तरह की रिपोर्ट प्रकाशित की, जिसका शीर्षक था – “देखिए: विश्व कप बुखार के बीच लंदन में भोजपुरी गाने की धूम।”- (अनुवाद)

बाद में इस मीडिया संगठन ने इसका शीर्षक बदल दिया – “देखिए : कथित तौर पर वर्ल्ड कप के दौरान चलाया गया भोजपुरी गाना वास्तव में बर्लिन के एक आयोजन में चलाया गया”-(अनुवाद)। हालांकि, इस लेख का यूआरएल, अभी भी पुराने शीर्षक से ही है।

हिंदी मीडिया संगठन पंजाब केसरी ने भी इस वीडियो को 2019 विश्व कप से जोड़ा और “लंदन की सड़कों पर भोजपुरी गाने पर जमकर नाचे अंग्रेज, वीडियो वायरल” शीर्षक दिया।

स्कूप व्हूप वेबसाइट सबसे पहले यह दावा करने वालों में था कि लंदन के लोगों ने ‘लॉलीपॉप लागेलु’ पर नृत्य किया, लेकिन बाद में अपनी रिपोर्ट में उन्होंने स्पष्टीकरण जोड़ा कि यह वीडियो लंदन में क्रिकेट विश्व कप के दौरान नहीं, बल्कि बर्लिन में शूट किया गया था। हालाँकि, उनके इंस्टाग्राम पेज पर अपलोड किया गया वीडियो जो लगभग 4 लाख बार देखा गया, अभी भी लंदन ही कहता है।

यही नहीं, इस गीत के गायक पवन सिंह ने भी यह वीडियो साझा किया, जिसमें दावा किया गया कि लंदन में भीड़ ने भारत-ऑस्ट्रेलिया मैच के दौरान उनके गाने पर नृत्य किया। उनका पोस्ट उपरोक्त मीडिया रिपोर्टों से पहले आया था।

 

View this post on Instagram

 

London World Cup during India Australia Match👆🙏👌😍 @gururandhawa #Lollypoplagelu #worldcup2019🏆

A post shared by Pawan Singh (@singhpawan999) on

इस वीडियो को गायक बाबा सहगल ने भी इस कैप्शन का उपयोग करते हुए साझा किया, “लंदन में क्रिकेट विश्व कप का परिणाम”। इसे 1 लाख से अधिक बार देखा गया।

कार्निवाल ऑफ कल्चर्स 2019, बर्लिन का वीडियो

ऑल्ट न्यूज़ को 9 जून को यूट्यूब के एक चैनल पर अपलोड किए गए इस वीडियो का एक लंबा संस्करण मिला। 1:41 मिनट के इस वीडियो का शीर्षक “भारतीय गानों पर नाचते जर्मनी के लोग” और कैप्शन “कार्निवल ऑफ कल्चर्स 2019” था। इस वीडियो में लोगों को न केवल ‘लॉलीपॉप लागेलु’ (पहले कुछ सेकंड में), बल्कि अन्य भारतीय गानों जैसे कि दलेर मेहंदी की ‘तुनुक तुनक तुन’ और फिल्म ‘की एंड का’ से हनी सिंह की ‘हाई हील्स’ पर भी नाचते हुए दिखाया गया है। हमने उक्त यूट्यूब चैनल चलाने वाले व्यक्ति अमन सेठ से बात की। उन्होंने बताया कि वह वीडियो उनके द्वारा ही शूट किया गया था और यह उनके दोस्त शिवम को नाचते हुए भी दिखलाता है। कुछ लोगों ने इस वीडियो पर टिप्पणी करते हुए पूछा है, “शिवम, क्या यह आप हैं?”

कार्निवल ऑफ कल्चर्स, बर्लिन में विभिन्न जातीय समूहों की सांस्कृतिक विविधता का जश्न मनाने का वार्षिक त्योहार है। इस वर्ष आयोजित कार्यक्रम के कई अन्य वीडियो में लोगों को कई अन्य भारतीय गीतों पर नृत्य करते हुए दिखाया गया है। वायरल वीडियो में दिख रहे भारतीय झंडे के साथ वाली वैन वही है जिसे कार्निवल की अन्य क्लिपों में भी देखा जा सकता है। इस वैन पर “बर्लिन” लिखा है।

त्रुटिपूर्ण तथ्य-जांच

कई मीडिया संगठनों ने इस वीडियो की पहले तथ्य-जांच की थी। हालांकि, उनमें से दो रिपोर्टों में ऑल्ट न्यूज़ को गड़बड़ियां मिलीं।

1. ओपइंडिया

ओपइंडिया ने दो तथ्य-जांच प्रकाशित किए — एक अंग्रेजी में और दूसरा हिंदी में। दोनों लेखों को अलग-अलग तरीके से लिखा गया है, जिनमें से हिंदी संस्करण में तथ्यात्मक गलतियाँ हैं। ओपइंडिया हिंदी ने दावा किया कि भीड़ किसी भोजपुरी गाने पर नहीं नाच रही थी और मूल ऑडियो से छेड़छाड़ करके वीडियो को सोशल मीडिया पर पोस्ट किया गया था। दावा किया गया कि ‘लॉलीपॉप लागेलु’ का ऑडियो, इस वीडियो में चढ़ाया गया था। हालांकि, अगर कोई वीडियो को ध्यान से देखे, तो लोगों को गाने के बोल के हिसाब से होठ हिलाते देखा जा सकता है।

इसके अलावा, ओपइंडिया द्वारा अपने दावे के समर्थन में साझा किया गया वीडियो, वायरल वीडियो से अलग था।

2. न्यूज़18

अपने फैक्ट-चेक में, न्यूज़ 18 ने लिखा, “विचाराधीन वीडियो में भारतीय और अन्य नस्लों के लोग बॉलीवुड गाने पर नाच रहे हैं, लेकिन न तो ‘लॉलीपॉप लागेलु’ और न ही लंदन के आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के प्रशंसक इसमें दिखाई देते हैं।” हालांकि, तथ्य-जांच इस आधार पर सही है कि वीडियो को बर्लिन में शूट किया गया था, मगर यह दावा, कि ‘लॉलीपॉप लागेलु’ की “इसमें उपस्थिति नहीं”, तथ्यात्मक रूप से गलत है।

सोशल मीडिया में वायरल

चूंकि वीडियो इंटरनेट पर अपलोड किया गया था, इसलिए इसे सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं और पेजों ने उठा लिया, जिनमें दावा किया गया कि यह कार्यक्रम 2019 विश्व कप के दौरान लंदन में हुआ था। एक पेज, धुर्त राठी भगवाधारी से इसे 5 लाख से अधिक बार देखा गया।

 

लो करवा लो वर्ल्ड कप लंदन में

Posted by Dhurth Rathi Bhagwadhari on Wednesday, 12 June 2019

यह वीडियो फेसबुक पर बड़े पैमाने पर वायरल है। यह ट्विटर पर भी व्यापक रूप से प्रसारित है।

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend