ज़ी हिंदुस्तान ने एक ख़बर में बताया कि गोरखपुर के चौरीचौरा इलाके में एक घर पर पाकिस्तान का झंडा फ़हराया गया. रिपोर्ट में ये भी कहा गया कि इस बात को लेकर लोगों ने काफी बवाल किया.

Breaking News: गोरखपुर में घर पर फहराया Pakistani झंडा

Gorakhpur के चौरीचौरा के मुंडेरा बाजार के वार्ड नंबर 10 में एक घर पर Pakistani झंडा लहराने को लेकर लोगों ने जमकर बवाल काटा. इस दौरान चौरीचौरा सहित कई थानों की पुलिस लोगों को शांत करने में जुटी रही.

#Gorakhpur #UttarPradesh #ZeeHindustan

Posted by Zee Hindustan on Thursday, 11 November 2021

ज़ी हिंदुस्तान के पत्रकार तुषार श्रीवास्तव ने भी ये दावा ट्वीट किया. (आर्काइव लिंक)

पंजाब केसरी ने भी ये खबर चलाई कि गोरखपुर के चौरीचौरा क्षेत्र में एक घर की छत पर पाकिस्तानी झंडा लगाया गया. (आर्काइव लिंक)

सीएम सिटी गोरखपुर में ‘पाकिस्तानी झंडा’ लगाने को लेकर तनाव,

सीएम सिटी गोरखपुर में ‘पाकिस्तानी झंडा’ लगाने को लेकर तनाव, हिंदूवादी संगठनों ने जमकर किया हंगामा, 4 पर राजद्रोह का केस दर्ज
#Gorakhpur

Posted by Punjab Kesari UP on Thursday, 11 November 2021

इसके अलावा, नवभारत टाइम्स, लोकमत हिन्दी ने भी ये दावा किया.

This slideshow requires JavaScript.

कुछ लोगों ने इस घटना के बारे में ट्वीट किया है. ट्वीट्स के मुताबिक, गोरखपुर के चौरीचौरा इलाके में भीड़ ने पाकिस्तानी झंडा लगाने के शक में एक घर को घेरा था. इस दावे के साथ एक वीडियो काफ़ी शेयर किया जा रहा है. वीडियो में भीड़ ‘भारत माता की जय’ और ‘वंदे मातरम’ के नारे लगा रही है.

दक्षिणपंथी मीडिया वेबसाइट ऑप इंडिया ने भी ये दावा किया.

क्या है इस दावे की सच्चाई?

मीडिया संगठन द्वारा झंडे के जो दृश्य चलाए गए हैं उन्हें ध्यान से देखने पर ऑल्ट न्यूज़ ने पाया कि ये पाकिस्तानी झंडा नहीं है. ये आप नीचे तस्वीर में भी साफ़ देख सकते हैं. घर पर लगे झंडे में सफेद पट्टी नहीं है. जबकि पाकिस्तान के झंडे में बायीं ओर सफ़ेद रंग की पट्टी होती है.

इसके अलावा, सोशल मीडिया पर इस घटना के कई वीडियोज़ और तस्वीरें शेयर किये गए हैं. इसे देखने पर भी साफ़ हो जाता है कि झंडे में सफेद रंग की पट्टी नहीं है. इसके अलावा दोनों झंडों में चांद अलग-अलग दिशा में है.

इसके अलावा, इनमें एक तस्वीर में एक व्यक्ति पुलिस को झंडे दिखा रहा है. ये झंडे इस्लामिक झंडे हैं न कि पाकिस्तानी.

गोरखपुर के घर पर कथित रूप से पाकिस्तानी झंडा लगाने के दावे पर कुछ यूज़र्स ने झंडे की तस्वीर शेयर की. और बताया कि ये झंडा पाकिस्तानी नहीं है.

गोरखपुर पुलिस ने इस मामले में ट्वीट करते हुए बताया कि चौरीचौरा कस्बे में एक घर पर पाकिस्तानी झंडा लगाने की खबर पर पुलिस ने एक व्यक्ति की तहरीर पर 4 लोगों के खिलाफ़ शिकायत दर्ज की थी. पुलिस ने बताया कि झंडे को कब्ज़े में ले लिया गया है और मामले में 3 टीम गठित कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है.

आगे, ऑल्ट न्यूज़ ने चौरी चौरा क्षेत्र के सिटी ऑफ़िसर से भी बात की. उन्होंने बताया कि इस मामले में पुलिस ने झंडा कब्ज़े में ले लिया था. उन्होंने कहा कि जांच के दौरान प्रथम दृष्ट्या में मालूम चला कि ये पाकिस्तानी नहीं बल्कि इस्लामिक झंडा है. फिर भी आगे जांच की जा रही है.

इस घटना के बारे में हमने स्थानीय पत्रकार से भी बात की. उन्होंने बताया, “चौरी चौरा इलाके में छत पर लगे एक झंडे का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. इसके चलते स्थानीय नेता उस घर के बाहर इकट्ठा हो गए. घर के बाहर जमा हुई भीड़ ने पत्थरबाज़ी की और बाहर खड़ी गाड़ी में भी तोड़-फोड़ की. इस हंगामे को देखते हुए पुलिस भी आ पहुंची और उन्होंने मामले को शांत करवाने की कोशिश की. पुलिस ने झंडे को कब्ज़े में ले लिया था और भीड़ में शामिल कुछ लोगों की शिकायत पर राजद्रोह का केस दर्ज किया था. इस मामले में 1 व्यक्ति की गिरफ़्तारी भी हुई थी.”

उन्होंने ऑल्ट न्यूज़ से FIR की कॉपी शेयर की. FIR में बताया गया कि ब्राह्मण जन कल्याण समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष कल्याण पांडे को जानकारी मिली थी कि चौरीचौरा इलाके निराला गली निवासी तालिम मुल्ला के घर पर पाकिस्तान का झंडा लगा है. इस वजह से ब्राह्मण जन कल्याण समिति के कार्यकर्ता वहां पहुंचे थे. उन्होंने प्रशासन को भी इस बात की जानकारी दी थी. और उन्होंने राजद्रोह का मुकदमा दर्ज करवाया था.

This slideshow requires JavaScript.

बीबीसी ने 14 नवंबर को खबर दी थी कि गोरखपुर पुलिस ने राजद्रोह का केस वापस ले लिया है. रिपोर्ट के मुताबिक, “जांच के बाद गोरखपुर पुलिस ने कहा है कि झंडा पाकिस्तानी नहीं बल्कि इस्लामिक था और राजद्रोह का मुक़दमा वापस होगा.” आर्टिकल में बताया गया है कि इस मामले में 4 लोगों के खिलाफ़ शिकायत दर्ज की गई थी जिसमें एक व्यक्ति अभी भी गिरफ़्तार है. पुलिस ने कहा है कि उसे जल्द ही छोड़ लिया जाएगा.

यानी, गोरखपुर के चौरीचौरा इलाके में एक घर पर पाकिस्तानी झंडा फहराने की बात शेयर की गई. इस घटना को लेकर स्थानीय नेता और हिन्दू संगठनों ने जमकर बवाल किया. इस पूरी घटना को मीडिया ने बिना किसी पुष्टि के रिपोर्ट किया. लेकिन पुलिस की जांच में ये इस्लामिक झंडा बताया गया है. वहीं झंडे को गौर से देखने पर भी ये मालूम चलता है कि ये पाकिस्तान का झंडा नहीं है.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

Tagged: