29 सितंबर को ‘राम भक्त’ नाम की फ़ेसबुक प्रोफ़ाइल से एक वीडियो पोस्ट किया जिसमें बड़ी संख्या में लोगों को रैली निकालकर, ‘जय श्री राम’ के नारे लगाते हुए देखा जा सकता है. सभी लोगों ने सफ़ेद कपड़े पहने हैं. वीडियो में लोगों के पास तलवारें भी दिख रही हैं. वीडियो के साथ किये गये दावे के मुताबिक, ‘राम के भक्त’ भारत को एक हिंदू राष्ट्र घोषित करने के लिए अयोध्या पहुंच चुके थे. इस वीडियो को 2 हज़ार से ज़्यादा बार शेयर किया गया और 32 हज़ार से ज़्यादा बार देखा गया.

 

हिंदू राष्ट्र घोषित करवाने के लिए सारे राम भक्त अयोध्या पहुंच चुके हैं
हर हिंदू का एक ही सपना हिंदू राष्ट्र हो भारत अपना जय जय श्री राम🙏🏻

Posted by राम भक्त on Wednesday, 29 September 2021

दो दिन बाद, फ़ेसबुक यूज़र रमेश पांडे ने भी ‘पुष्पेंद्र कुलश्रेष्ठ’ नामक ग्रुप में ये वीडियो पोस्ट किया. यहां इसे एक हज़ार से ज़्यादा बार शेयर किया गया.

इसी तरह, कई फ़ेसबुक यूज़र्स ने ये वीडियो दक्षिणपंथी या भाजपा समर्थक ग्रुप्स में पोस्ट किया. इनमें हिंदू एकता, भावी मुख्यमंत्री राजस्थान, योगी आदित्यनाथ फ़ैन ग्रुप, ओमप्रकाश सिंह, और भाषाणां जननी संस्कृत भाषा शामिल हैं.

महाराष्ट्र का पुराना वीडियो

वीडियो वेरिफ़िकेशन टूल InVid की मदद से हमने कई रिवर्स इमेज सर्च किये लेकिन हमें कोई सफ़लता नहीं मिली. हालांकि, कीफ़्रेम के आधार पर वीडियो की पड़ताल करने पर हमने देखा कि 3 सेकंड पर बैकग्राउंड में ‘लक्ष्मी स्पोर्ट्स’ नामक एक दुकान दिख रही है.

इसे ध्यान में रखते हुए हमने जस्ट डायल पर उक्त दुकान को ढूंढने कि कोशिश की. न्यू श्री लक्ष्मी स्पोर्ट्स नामक ये दुकान हमें महाराष्ट्र के सांगली ज़िले के मिराज शहर में मौजूद मिली. दुकान पर वैसी ही होर्डिंग लगी है जैसी वायरल वीडियो में दिख रही है.

ऑल्ट न्यूज़ ने स्टोर के मालिक से बात की. उन्होंने बताया, “वीडियो दो साल पहले नवरात्रि के आसपास हुई एक रैली का है. ये वीडियो हाल का नहीं है.”

इसके बाद, दुकान के मालिक से हुई बातचीत के आधार पर हमने यूट्यूब पर एक कीवर्ड सर्च किया, जहां हमने देखा कि यूट्यूब यूज़र अक्षय शिंदे ने 2019 में ये वीडियो अपलोड किया था.

महाराष्ट्र के सांगली ज़िले का 2019 का एक वीडियो इस झूठे दावे के साथ शेयर किया गया कि ‘राम के भक्त’ भारत को ‘हिंदू राष्ट्र’ घोषित करने के लिए अयोध्या पहुंचे हैं.


मीडिया ने राकेश टिकैत का अधूरा बयान दिखाकर कहा कि उन्होंने मीडिया को धमकी दी, देखिये

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
About the Author

Aqib is monitoring and researching mis/disinformation at Alt News