एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल है. तस्वीर में सोनिया गांधी एक कुर्सी पर बैठी हैं. और उनके पास मनमोहन सिंह खड़े हैं. साथ में कुछ और लोग भी वहां पर खड़े हैं. तस्वीर शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह खड़े हैं और कमरे में एकमात्र कुर्सी पर सोनिया गांधी बैठी हुई थीं. मोहन शर्मा नाम के फ़ेसबुक यूज़र ने ये तस्वीर इसी दावे के साथ पोस्ट की.

ट्विटर यूज़र गुलशन झा ने 2020 में ये तस्वीर इसी दावे के साथ ट्वीट की थी. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

फ़ेसबुक और ट्विटर पर ये तस्वीर वायरल है.

ऑल्ट न्यूज़ के मोबाइल ऐप और व्हाट्सऐप हेल्पलाइन नंबर (+91 76000 11160) पर इस तस्वीर की असलियत जानने के लिए कुछ रीक्वेस्ट मिली हैं.

This slideshow requires JavaScript.

फ़ैक्ट-चेक

वायरल तस्वीर को गौर से देखने पर मालूम चला कि डॉ. मनमोहन सिंह और बाकी लोगों के पीछे कुर्सियां रखी हैं जिसे नीचे तस्वीर में साफ़ देखा जा सकता है. इसके अलावा, गौर करें कि तस्वीर में सोनिया गांधी ऐसे बैठी हैं जैसे वो बस खड़ी होने ही वाली थीं या फिर अभी-अभी बैठी हैं. साथ में वहां मौजूद बाकी मंत्री भी बस अभी-अभी खड़े हुए ही लगते हैं.

आसान से रिवर्स इमेज सर्च से ऑल्ट न्यूज़ को ये तस्वीर 30 जुलाई 2013 के फ़र्स्ट पोस्ट के आर्टिकल में मिली. आर्टिकल के मुताबिक, तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के नयी दिल्ली स्थित आवास पर तेलंगाना के गठन को लेकर बैठक हुई थी. इस बैठक में UPA चेयरपर्सन सोनिया गांधी, केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम, सुशील कुमार शिंदे, कमलनाथ और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी शामिल हुए थे.

आगे, की-वर्ड्स सर्च के ज़रिए हमें जुलाई 2013 की वन इंडिया न्यूज़ की रिपोर्ट मिली. इस रिपोर्ट में प्रधानमंत्री आवास पर हुई बैठक की कुछ तस्वीरें शेयर की गई थीं. ध्यान दें कि बैठक की एक दूसरी तस्वीर में बाकी लोग बैठे हुए दिखते हैं.

This slideshow requires JavaScript.

आर्टिकल में शेयर की गई तस्वीरें और वायरल तस्वीर में काफ़ी समानताएं हैं जिसे आप नीचे तस्वीर में देख सकते हैं. इससे अलग, आर्टिकल में शामिल तस्वीर में सभी लोग अपनी-अपनी कुर्सियों पर बैठे दिखते हैं. यानी, ये दावा कि कमरे में सिर्फ़ सोनिया गांधी के लिए ही कुर्सी रखी गयी थी, गलत है.

इस तरह, एक तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए दावा किया गया कि UPA की बैठक में सिर्फ़ एक ही कुर्सी रखी गयी थी जिसमें सोनिया गांधी बैठी हैं. और तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह समेत बाकी लोग खड़े थे. इससे पहले भी तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह और सोनिया गांधी पर निशाना साधते हुए कुछ तस्वीरें फ़र्ज़ी दावे के साथ शेयर की गयी थीं.


रूसी आर्टिस्ट की कृष्ण और पांडवों की पेंटिंग को लोगों ने पंजशीर पैलेस में मौजूद पेंटिंग बताया :

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged: