2 मिनट का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. वीडियो में एयरलाइन्स के स्टाफ़ के साथ कुछ पैसेंजर्स की बहस हो रही है. एक व्यक्ति को ये कहते हुए सुना जा सकता है कि नॉर्मल दाम से तीन गुना ज़्यादा पेमेंट करने पर भी एयरलाइन सोशल डिस्टैन्सिंग फ़ॉलो नहीं कर रहा है. दावा है कि ये एयर इंडिया की फ़्लाइट है. प्रवीण कुमार प्रभाकर नाम के एक यूज़र ने ये वीडियो शेयर करते हुए दावा किया, “एयर इंडिया ने सोशल डिस्टेन्सिंग के नाम पर तीन गुना चार्ज किया. लेकिन पैसेंजर्स को बीच में एक भी सीट खाली नहीं मिली. जनता को लूटना जारी है.” [असल मेसेज: Air India charged 3 times the fare, in the name of “social distancing”. But the passengers didn’t get even a single seat empty between them. Looting the public continues unabated.]

Air India charged 3 times the fare, in the name of “social distancing”. But the passengers didn’t get even a single seat empty between them.
Looting the public continues unabated.

Posted by Praveen Kumar Prabhakar on Thursday, 7 May 2020

कांग्रेस सदस्य सुमित कुमार ने भी ये वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा था, “इस तरह ठूंस ठूंस कर विदेशों से यात्री लाए जा रहे हैं।” बाद में उन्होंने ये डिलीट कर लिया. लेकिन इसका आर्काइव यहां देखा जा सकता है.

ऑल्ट न्यूज़ के व्हाट्सऐप नंबर (+91 76000 11160) और ऑफ़िशियल ऐप पर भी इस वीडियो की पड़ताल की कुछ रिक्वेस्ट्स मिली हैं.

फ़ैक्ट-चेक

ऑल्ट न्यूज़ ने फ़ेसबुक पर कीवर्ड सर्च से पाया कि एक पेज ‘सिटिज़न ऑफ़ पाकिस्तान‘ ने इसे 27 अप्रैल को पोस्ट किया था. वीडियो के डिस्क्रिप्शन के मुताबिक़ ये घटना पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन्स (PIA) फ़्लाइट में हुई. इस पेज ने वीडियो का क्रेडिट पाकिस्तानी समाचार संगठन टाइम्स ऑफ़ कराची (ToK) को दिया है.

इसके बाद यूट्यूब पर हमें एक पाकिस्तानी समाचार चैनल की रिपोर्ट में ये वीडियो मिला. ये न्यूज़ रिपोर्ट 26 अप्रैल की है और इसके अनुसार ये फ्लाइट टोरंटो से इस्लामाबाद जा रही थी. वीडियो में दिख रही बहस का कारण था कि फ़्लाइट ने नॉर्मल से ज़्यादा चार्ज किया था और सारी सीटें भरी थीं.

पाकिस्तान के एक और समाचार चैनल समा टीवी के अनुसार पैसेंजर्स को एक सीट छोड़कर बैठने की बजाय एक के बाद एक बैठाया गया. “यात्रियों को नॉर्मल किराया (1400 $) के बजाय (3000 $) भरने पड़े. PIA के प्रवक्ता ने समा टीवी को बताया कि सुरक्षा के सभी उपाय किए गए थे और फ़्लाइट को डिसइन्फ़ेक्ट किया गया था. प्रवक्ता के अनुसार फ़्लाइट की कीमत ज़्यादा इसीलिए थी क्यूंकि कनाडा से इसे खाली आना पड़ा था.

इस घटना को भारतीय मीडिया ने भी कवर किया था. 29 अप्रैल की नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट समा टीवी के डीटेल्स से मेल खाती है. इसके अलावा 8 मई को प्रेस इन्फ़ॉर्मेशन ब्यूरो की फ़ैक्ट-चेक टीम ने ट्वीट कर ये जानकारी दी कि सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो एयर इंडिया की फ़्लाइट का नहीं है.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
About the Author

Archit is a graduate in English Literature from The MS University of Baroda. He also holds a post-graduation diploma in journalism from the Asian College of Journalism. Since then he has worked at Essel Group's English news channel at WION as a trainee journalist, at S3IDF as a fundraising & communications officer and at The Hindu as a reporter. At Alt News, he works as a fact-checking journalist.