सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफ़ी शेयर किया जा रहा है. वीडियो में उपर की ओर एक व्यक्ति दिखता है जबकि नीचे चल रही क्लिप में एक पक्षी मुंह से आग उगलता दिख रहा है. ये वीडियो शेयर करते हुए अमेरिका के जंगलों में लगने वाली आग का ज़िम्मेदार इस पक्षी को बताया जा रहा है. साथ में बताया गया है कि 1400 साल पहले इस्लाम में कथित रूप से इस पक्षी का ज़िक्र किया गया था. फ़ेसबुक यूज़र मोहम्मद यूनुस ने ये वीडियो ऐसे ही दावे के साथ पोस्ट किया. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 3 हज़ार से ज़्यादा लोग देख चुके हैं. (पोस्ट का आर्काइव लिंक)

*अमरीका में हमेशा जंगलो में आग लगने की खबर सुनते थे ? अब जाकर पता चला है कि यह विडियो में देखा गया पक्षी आग लगा रहा है,अल्लाह के नबी सल्ललाहु अलयही वस्सलम ने 1400 साल पहले इस पक्षी का जिक्र कीया था,तब सहाबा ए इक्राम भी ताज्जुब करते थे ,

Posted by Mohammad Yunus Chhipa on Sunday, 14 November 2021

ट्विटर पर भी कुछ यूज़र्स ने ये वीडियो ट्वीट किया है. (लिंक 1, लिंक 2)

फ़ेसबुक पर ये वीडियो काफ़ी शेयर किया जा रहा है. ऑल्ट न्यूज़ के मोबाइल ऐप पर इस वीडियो की असलियत जानने के लिए कुछ रीक्वेस्ट मिली.

This slideshow requires JavaScript.

फ़ैक्ट-चेक

वीडियो के फ़्रेम्स को क्रॉप कर सिर्फ़ पक्षी वाले हिस्से को गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने से हमें मालूम चला कि ये पक्षी साउदर्न लैपविंग (Southern Lapwing) है.

ई-बर्ड वेबसाइट के मुताबिक, ये पक्षी ज़्यादातर साउथ अमेरिका में पाया जाता है. और ये पानी के आस-पास रहता है. लेकिन वेबसाइट पर इस पक्षी के मुंह से आग उगलने की बात नहीं बताई गई है.

रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें यूट्यूब चैनल ‘Fabricio Rabachim’ का एक वीडियो मिला जिसमें पक्षी वाली वीडियो क्लिप दिखती है. यूज़र ने बायो में बताया है कि वो वीडियो में विज़ुअल इफ़ेक्ट्स (VFX) डालता है.

जंगल में आग लगाने वाले पक्षी?

जांच करते हुए ऑल्ट न्यूज़ ने पाया कि कुछ ऐसे पक्षी होते हैं जो शिकार को आसानी से पाने के लिए सुलगती हुई लकड़ियां झाड़ियों में डाल देते हैं. इनसे आग फैलती है और छोटे जानवर, कीड़े आसानी से बाहर आ जाते हैं. ऐसे पक्षियों को ‘firehawks’ कहा जाता है. ज़्यादातर ये उत्तरी ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में पाए जाते हैं. इनमें ब्लैक काइट्स और ब्राउन फ़ेलकन के नाम शामिल हैं.

अब बात करते हैं उस क्लिप की जिसमें एक व्यक्ति बात कर रहा है. वीडियो पर टिक-टॉक यूज़र ‘armra21′ का वॉटरमार्क लगा है. सर्च करने पर मालूम चला कि ये अकाउंट मुस्लिम धर्म से जुड़ी कहानियां और धार्मिक किस्से शेयर करता है. इस अकाउंट पर वायरल क्लिप भी शेयर की गई है. लेकिन भारत में टिक टॉक बैन होने के कारण ये वीडियो नहीं देखा जा सकता.

आगे, फ़्रेम्स को रिवर्स इमेज सर्च करने पर ऑल्ट न्यूज़ को ये वीडियो 17 नवम्बर 2021 को अपलोड किया हुआ मिला. कैप्शन के मुताबिक, वीडियो में अब्दुल दाम अल खलील ने एक पक्षी के मुंह से आग निकलने के बारे में बताया था. ये वीडियो अब्दुल दाम अल खलील के ऑफ़िशियल यूट्यूब चैनल से अपलोड किया गया था. चैनल के अबाउट सेक्शन में डॉ. अब्दुल की पहचान कुरान और सुन्नत में वैज्ञानिक चमत्कार की शोध करने वाले के रूप में की गई है. इस क्लिप में वायरल वीडियो का हिस्सा दिखाया जाता है.

ऑल्ट न्यूज़ को यूट्यूब पर ये वीडियो 18 जून 2019 को पोस्ट किया गया मिला. ये इन्टरनेट पर इस वीडियो को शेयर किये जाने का सबसे पुराना उदाहरण है.

कुल मिलाकर, एक पक्षी का एडिटेड वीडियो सोशल मीडिया पर झूठे दावे के साथ शेयर किया गया कि ये अमेरिका के जंगलों में आग लगने का ज़िम्मेदार है.


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कंगना रनौत से पद्मश्री वापस लेने की बात की?

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged: