यूट्यूब पर कई चैनल्स हैं जो पॉलिटिकल प्रोपगेंडा करते हैं. कुछ सरकार के समर्थन में बात करते हैं तो कुछ उनके विरोध में. ऑल्ट न्यूज़ ने पहले भी ऐसे कुछ चैनल्स के बारे में यूट्यूब को सूचित किया था जो अपने वीडियो में लगातार नफ़रत फैलाने वाली भाषा का इस्तेमाल कर हिंसा भड़काने का काम करते हैं. यूट्यूब ने इन चैनल्स को संज्ञान में लेते हुए इन्हें सस्पेंड कर दिया था. इस बारे में ऑल्ट न्यूज़ की डिटेल्ड रिपोर्ट आप यहां पर पढ़ सकते हैं.

ऐसा ही एक यूट्यूब चैनल है नेशन TV. इसके लगभग 5 लाख सब्सक्राइबर्स हैं और ये चैनल अक्सर भ्रामक जानकारियां शेयर करता है. कांग्रेस समर्थक ये चैनल BJP के खिलाफ़ दुष्प्रचार करने का काम कर रहा है. और इसके लिए वो फ़र्ज़ी ख़बरें अपने चैनल के माध्यम से दर्शकों तक पहुंचाता है. इस चैनल के कई वीडियोज़ पर लाखों में व्यूज़ होते हैं. ऐसा इसीलिए भी क्यूंकि इसके टाइटल और वीडियो का थंबनेल सनसनीखेज़ दावों से भरा रहता है. लोग ऐसा टाइटल देखकर इसपर क्लिक कर देते हैं. और हमने पहले भी नोटिस किया है कि ग़लत जानकारियां फ़ैलाने वाले चैनल्स ज़्यादातर क्लिकबेट टाइटल्स और थंबनेल का इस्तेमाल करते हैं. मार्च 2022 में उत्तर प्रदेश चुनाव के नतीज़े घोषित होने के बाद इस चैनल ने दावा किया था कि चुनाव आयोग ने ईवीएम के साथ छेड़छाड़ की बात स्वीकार कर 142 सीटों पर फिर से चुनाव कराने का आदेश दिया है. ये दावा झूठा था जिसपर ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल यहां पर पढ़ी जा सकती है.

केस 1

नेशन TV ने 11 सितंबर, 2022 को एक वीडियो अपलोड किया. इसका टाइटल है, “कांग्रेस की भारत यात्रा के समर्थन में उतरी हेमा मालिनी उतरते ही उड़ा ड़ाली मोदी की धज्जियाँ“. ज्ञात हो कि 7 सितंबर को कन्याकुमारी से शुरू हुई कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ अगले 5 महीने में देश के 12 राज्यों और दो केंद्र-शासित प्रदेशों से गुज़रते हुए श्रीनगर में समाप्त होगी. इस चैनल ने दावा किया कि BJP सांसद हेमा मालिनी ने इस यात्रा को समर्थन दिया है. इस वीडियो को 5 लाख से ज़्यादा व्यूज़ मिलें. इस वीडियो में हेमा मालिनी के हवाले से कहा गया है, “समाज में जो नफ़रत फैलाने और आपसी दूरियां बढ़ाने की कोशिश हो रही है, उसे ये भारत जोड़ो यात्रा समाप्त करेगी.” हालांकि इस वीडियो में हेमा मालिनी को ये कहते हुए नहीं दिखाया गया है न ही ये बताया गया है कि उन्होंने कब और कहां ये बयान दिया. साथ ही वीडियो में ये भी बताया गया है कि हेमा मालिनी ने इशारों-इशारों में मोदी-शाह पर करार हमला किया है.

इस वीडियो को 12 लाख व्यूज़ मिले थे. बाद में चैनल ने इसे डिलीट कर दिया.

नेशन टीवी ने हेमा मालिनी के जिस वीडियो को म्यूट करके ये ख़बर बनाई है, हमें मालूम चला कि वो फ़रवरी 2022 में हुई एक रैली का वीडियो है. और इस वीडियो में वो मोदी सरकार की तारीफ़ों के पुल बांध रही हैं. उन्होंने भाषण देते हुए ये भी कह डाला कि रूस और यूक्रेन के युद्ध को PM मोदी रोकने का काम कर रहे हैं.

हमें इस तरह की कोई ख़बर नहीं मिली जिसमें हेमा मालिनी द्वारा ‘भारत जोड़ो यात्रा’ का समर्थन करने की बात की गई हो. यानी, नेशन TV ने एक पुराना वीडियो उठाया और उसे म्यूट कर ग़लत दावा किया.

केस 2

नेशन टीवी ने ऐसे ही एक वीडियो में दावा किया कि PM नरेंद्र मोदी की पत्नी जशोदाबेन भी कांग्रेस की “भारत जोड़ो यात्रा’ के समर्थन में सामने आयीं. चैनल ने ये वीडियो पोस्ट करते हुए टाइटल लिखा, “भारत यात्रा में शामिल हुई मोदी की पत्नी यशोदाबेन मोदी यात्रा में शामिल होते ही मोदी को उखाड़ फेंका?!

इस वीडियो को डिलीट किये जाने से पहले तक 12 लाख व्यूज़ मिले हैं. बाद में चैनल ने वीडियो डिलीट कर दिया लेकिन इससे पहले ऑल्ट न्यूज़ ने इसे डाउनलोड कर लिया था.

इस दावे का भी कोई आधार नहीं है. ऑल्ट न्यूज़ को ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं मिली जिसमें जशोदाबेन के ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में शामिल होने की ख़बर हो.

केस 3

चैनल ने ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में नितिन गडकरी के शामिल होने का भी दावा किया. इस वीडियो का टाइटल है, “कांग्रेस की भारत यात्रा में शामिल हुए नितिन गड़करी यात्रा में शामिल होते ही मोदी को उखाड़ फेंका?!

इस वीडियो को 4 लाख से ज़्यादा व्यूज़ मिले हैं.

हेमा मालिनी और जशोदाबेन के इस यात्रा में शामिल होने के झूठे दावे की तरह ही ये दावा भी बेबुनियाद है. की-वर्ड्स सर्च से हमें नितिन गडकरी के ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में शामिल होने की कोई ख़बर नहीं मिली. नेशन TV ने नितिन गडकरी का 2011 का एक वीडियो उठाकर बिना किसी संदर्भ के चलाया. 2011 में UPA की सरकार थी और BJP नेता नितिन गडकरी तत्कालीन सरकार के खिलाफ़ बयान दे रहे थे.

केस 4

नेशन TV ने एक वीडियो में दावा किया कि वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुए. चैनल ने ये वीडियो पोस्ट करते हुए टाइटल लिखा, “भारत यात्रा में शामिल हुए वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार यात्रा में शामिल होते ही मोदी की उतार दी गर्मी?”

ऑल्ट न्यूज़ ने पाया कि ये दावा भी ग़लत है. इस दावे के लिए रवीश कुमार के फ़ेसबुक पोस्ट से उनका 2 साल पुराना एक वीडियो उठाकर इसे म्यूट करके चलाया गया है. हमने रवीश कुमार से संपर्क किया. उन्होंने बताया कि वो इस यात्रा में शामिल नहीं हुए हैं. यानी, ये दावा भी सिर्फ़ एक झूठ है.

‘भारत जोड़ो यात्रा’ से जोड़कर किये गए झूठे दावे

हमने देखा कि चैनल ने सिर्फ BJP सांसद हेमा मालिनी के बारे में ही नहीं बल्कि BJP से जुड़े ऐसे कई सदस्यों द्वारा भारत जोड़ो यात्रा का समर्थन करने का ग़लत दावा किया है.

नीचे स्क्रीनशॉट में दिख रहा है कि चैनल ने अमिताभ बच्चन, कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा देवी सिंह पाटिल, पूर्व आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद, पूर्व CJI रंजन गोगोई, राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ के राहुल गांधी की अगुवाई में चल रही ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में शामिल होने का दावा किया. इनमें से कई वीडियोज़ अब चैनल ने डिलीट कर दिए हैं.

नेशन टीवी ने BJP सांसद और ऐक्टर सनी देओल, सुब्रमण्यम स्वामी, राज्यपाल सत्यपाल मलिक, पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, मुलायम सिंह यादव, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, अपना दल की अनुप्रिया पटेल, राजस्थान की पूर्व CM वसुंधरा राजे, लोकसभा स्पीकर ओम बिरला, गुलाम नबी आज़ाद, इत्यादि के बारे में भी दावा किया कि ये लोग भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुए.

नेशन टीवी ने बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती, राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बारे में भी दावा किया कि इन लोगों ने भारत जोड़ो यात्रा का समर्थन किया.

This slideshow requires JavaScript.

 

ऑल्ट न्यूज़ ने पाया कि नेशन टीवी के इन सभी वीडियोज़ में किया गया सरासर ग़लत है. चैनल द्वारा बताये गए किसी भी नेता या हस्तियों ने ‘भारत जोड़ो यात्रा’ का समर्थन नहीं किया है और न ही इसमें शामिल हुए हैं.

अगर आप गौर करें तो इस चैनल के लगभग हर वीडियोज़ में एक ही पेटर्न हैं. ‘ब्रेकिंग न्यूज़’ के टिकर के साथ जिस फ़िगर के बारे में जानकारी दी जा रही है उसकी एक रैंडम तस्वीर और वीडियो के अंदर किसी कार्यक्रम से उठायी गई कुछ क्लिप्स होती हैं.

एडिटेड तस्वीर के ज़रिये PM मोदी का चरित्रहनन करने की कोशिश

चैनल ने एक वीडियो पोस्ट किया जिसका टाइटल है, “गुजरात चुनाव से पहले बुरे फँसे प्रधानमंत्री,मोदी का गुप्त वीडियो गलती से हुआ लीक पूरे देश में थू थू?” वीडियो के थंबनेल में चैनल ने PM मोदी के साथ महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी को रखा है. और ब्रेकिंग न्यूज़ में बताया जा रहा है कि मोदी का गुप्त वीडियो ग़लती से लीक हुआ है.

लेकिन जब आप वीडियो पर क्लिक करेंगे तो ऐसी कोई बात इसमें नहीं कही गई है. इस चैनल ने 2013 में CM मोदी के दिए गए बयान को उठाकर ये वीडियो बनाया है. और इसमें कहीं भी स्मृति ईरानी का ज़िक्र भी नहीं है. यानी, ग़लत तरीके से वीडियो पर व्यूज़ पाने के लिए चैनल ऐसे हथकंडे भी अपना रहा है.

नीचे बायीं तरफ नेशन TV के कुछ स्क्रीनग्रैब और दायीं तरफ हिंदी मीडिया के कुछ चैनल्स के स्क्रीनग्रैब हैं. आप देख सकते हैं कि नेशन TV ने कैसे खुद को मेनस्ट्रीम मीडिया जैसा दिखाने के लिए ‘ब्रेकिंग न्यूज़’ जैसे ग्राफ़िक्स का इस्तेमाल किया है.

इस प्रोपगेंडा चैनल के पीछे किसका हाथ है?

इस चैनल के अबाउट सेक्शन में दी गई ईमेल आईडी को गूगल पर सर्च करने से हमें एक और चैनल ‘संवाद TV‘ मिला. ये एक वेरीफ़ाइड चैनल है जिसके 1 मिलीयन से ज़्यादा सब्सक्राइबर्स हैं. इस चैनल के फीचर चैनल में नेशन टीवी का भी नाम है. यानी, संवाद टीवी, संवाद समाचार, नेशन टीवी और भारत टीवी को कोई एक ही व्यक्ति चलाता है.

हमने देखा कि संवाद टीवी भी नेशन टीवी की तरह कांग्रेस का झूठा प्रचार कर ग़लत जानकारी फैलाता है. इस चैनल द्वारा अपलोड किये गए हाल के कुछ वीडियोज़ के टाइटल इस प्रकार हैं:

  • भारत यात्रा में पहुंचे गांधी जी,मोदी की उड़ा डाली धज्जियां

  • राहुल गांधी ने भाजपा को रौंदा,मोदी-शाह बुरी तरह हुए पस्त..!!

  • मनमोहन सिंह ने मचाया तहलका-भरे मंच से मोदी को धो डाला..!!

  • बाप रे! 60 साल की बूढ़ी कांग्रेस की शेरनी ने मोदी का कलेजा छलनी कर दिया..!!

  • भारत यात्रा में कट्टर हिंदू ने कर दी भाजपा के अंत की भविष्यवाणी..!!

चैनल के कुछ वीडियोज़ देखने से पता चल जाता है कि ये कांग्रेस समर्थक और PM मोदी के खिलाफ़ बातें करता है.

हमने संवाद टीवी का ट्विटर हैंडल देखा. ट्विटर पर इसके सिर्फ 74 फॉलोअर्स हैं. इस लिस्ट में एक नाम है नीरज तिवारी का जो खुद को ‘नेशन टीवी’ का प्राउड रिपोर्टर बताता है. गौर करने वाली बात ये है कि इसका हैंडल नेम भी नेशन टीवी (nationtv693) की तरह @neerej693 है. नीरज तिवारी के बायो में भी ‘नेशन टीवी’ के यूट्यूब चैनल का लिंक है. (प्रोफ़ाइल का आर्काइव लिंक)

नेशन टीवी और नीरज तिवारी के कांग्रेस समर्थक होने की बात का एक सबूत ये भी है कि फ़ेसबुक पर नीरज तिवारी अक्सर नेशन TV के वीडियोज़ कई कांग्रेस समर्थक फ़ेसबुक ग्रुप्स में शेयर करते रहते हैं जैसे 🇮🇳 Congress. Party 🇮🇳 45k सदस्य) (Indian youth Congress 19k सदस्य) (I m back Congress …. Rahul Gandhi. 27k सदस्य) (इंदौर विधानसभा -2 आई.टी सेल युवा कांग्रेस 788 सदस्य.

This slideshow requires JavaScript.

इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए ऑल्ट न्यूज़ इस निष्कर्ष पर पहुंचा है कि नेशन टीवी और संवाद TV, नीरज तिवारी नामक व्यक्ति चलाते हैं. ये शख्स कांग्रेस समर्थक है और PM मोदी और BJP के खिलाफ़ प्रचार करने का काम करता है. ऑल्ट न्यूज़ ने नेशन TV से संपर्क किया. इन्होंने ये स्वीकार किया कि यूट्यूब से पैसा कमाने के लिए वो क्लिकबेट टाइटल का इस्तेमाल करते हैं ताकि लोग उसपर क्लिक करें और वीडियो को ज़्यादा से ज़्यादा व्यूज़ मिलें. ये पूछने पर कि ग़लत जानकारियां क्यूं फैलाते हैं, इन्होंने कहा कि अगर उनकी टीम से कभी कुछ गलती से पोस्ट हो जाता है तो बाद में सुधार कर दिया जाता है या उसे डिलीट कर दिया जाता है.

हमने देखा कि कई पुराने वीडियोज़ डिलीट कर दिए गए हैं जिसके लाखों में व्यूज़ थे. लेकिन डिलीट किये जाने से पहले ये ग़लत जानकारियां लाखों लोगों तक पहुंच चुकी थीं और इससे नुकसान भी हो चुका था. इतना ही नहीं आए दिन ये चैनल सिर्फ और सिर्फ ग़लत जानकारियों के आधार पर ही वीडियोज़ पोस्ट करते रहता है. कई वीडियोज़ के थंबनेल और टाइटल अब बदल दिए गए हैं.

ये चैनल यूट्यूब की पॉलिसी का भी उल्लंघन करता है. ऑल्ट न्यूज़ ने यूट्यूब को इस चैनल के बारे में जानकारी दी है. यूट्यूब की ओर से 28 नवंबर को जवाब आया. उन्होंने लिखा, “यूट्यूब ने मिसइनफार्मेशन पॉलिसी का उल्लंघन करने के लिए नेशन टीवी का एक वीडियो हटा दिया है, और काफी पहले से चल रहे तीन स्ट्राइक सिस्टम के अनुसार चैनल पर स्ट्राइक जारी कर दिया है.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

Tagged:
About the Author

Priyanka Jha specialises in monitoring and researching mis/disinformation at Alt News. She also manages the Alt News Hindi portal.