एडिटर्स गिल्ड की कोषाध्यक्ष शीला भट्ट ने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा, “सिंगापुर में, मास्क न पहनने पर सीधे गिरफ़्तारी, कोई दया नहीं. (In Singspore, if no mask, straight arrest. No sympathy).” वीडियो में 4 पुलिसवाले एक महिला को गिरफ़्तार कर हथकड़ी लगा रहे हैं और वो लगातार उनसे बहस कर रही है. उए ये कहते हुए सुना जा सकता है – “रुक जाओ …ये मानव अधिकारों के खिलाफ़ है (Stop it…this is against human rights…).” इस पोस्ट को करीब 400 बार रीट्वीट किया जा चुका है. (आर्काइव लिंक)

कुछ इसी कैप्शन के साथ कई फे़सबुक यूज़र्स ने भी ये वीडियो शेयर किया. सिंगापुर के एक फे़सबुक पेज ऑल सिंगापुर स्टफ़ ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, “क्या उसे हथकड़ी लगाना ज़रूरी था? (Was it even necessary to handcuff her? …)” कमेंट सेक्शन में देखा जा सकता है कि लोगों ने समझा कि ये गिरफ़्तारी मास्क नहीं पहनने के लिए हो रही है.

ऑल्ट न्यूज़ को व्हाट्सऐप नंबर (+917600011160) पर वीडियो के फै़क्ट चेक के लिए भी रिक्वेस्ट भेजी गयीं.

फै़क्ट-चेक

‘Singapore woman arrest’ – इस कीवर्ड के साथ सर्च करते ही सबसे पहला रिजल्ट सिंगापुर के ऑनलाइन न्यूज़पेपर टुडे की रिपोर्ट दिखाता है. ये घटना 13 अक्टूबर की है. इस रिपोर्ट के मुताबिक एक 35 वर्षीय महिला ने सिंगापुर के मॉल नोवेना स्क्वायर रेस्टोरेंट में  अनजान व्यक्ति के सिर पर सूप डाल दिया था. इसके बाद बहस हुई और उसने व्यक्ति पर न सिर्फ थूका, बल्कि उसके दायें हाथ में दांतों से काट भी लिया. इसके बाद पुलिस को कॉल किया गया और वो महिला पुलिस के साथ भी बदतमीज़ी से पेश आई. पुलिस ने महिला को गिरफ़्तार कर लिया. रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि उसे मेंटल हेल्थ (केयर एंड ट्रीटमेंट) ऐक्ट के तहत पकड़ा गया है. फ़िलहाल उसका इलाज इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेंटल हेल्थ में किया जा रहा है.

सिंगापुर के ही एक अन्य न्यूज़ आउटलेट मदरशिप ने अपनी रिपोर्ट में पुलिस का पूरा स्टेटमेंट दिया है. इसमें पुलिस ने कहा है, “जब ऑफ़िसर्स उसके पास गये, तब भी महिला ने लगातार बेतुके ढंग से चिल्लाना जारी रखा. यहां तक कि पास में खड़े उसके परिजन भी उसे शांत नहीं कर पा रहे थे.”

सिंगापुर के नेता एम रवि ने एक फे़सबुक पोस्ट में इस गिरफ़्तारी की आलोचना करते हुए लिखा कि ये ताकत का गलत इस्तेमाल है. उन्होंने बताया कि एक वकील ने उस महिला की मदद करने के लिए उन्हें ये वीडियो भेजा.

न्यूज़ वेबसाइट्स एशिया वन और स्टॉम्प ने भी इसके बारे में रिपोर्ट किया है.

This slideshow requires JavaScript.

यानी, सिंगापुर के मॉल में हुई एक महिला की गिरफ़्तारी का वीडियो शेयर करके इसके पीछे मास्क न पहनने का कारण बताया जा रहा है. ये दावा ग़लत है. महिला को एक अनजान शख्स के साथ बदसलूकी करने और दांतों से काटकर हमला करने के लिए गिरफ़्तार किया गया. फ़िलहाल उसे मानसिक इलाज के लिए भर्ती किया गया है.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
About the Author

A journalist and a dilettante person who always strives to learn new skills and meeting new people. Either sketching or working.