सोशल मीडिया पर एक व्यक्ति की तस्वीर शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि इस व्यक्ति ने उत्तर-प्रदेश के शाहजहांपुर में एक लड़की का बलात्कार होने से बचा लिया. मेसेज के मुताबिक, लड़की का बचाव करते हुए इस व्यक्ति को 3 गोलियां लग गयीं. प्रोफ़ेसर नीरण गौतम ने ये तस्वीर इसी दावे के साथ ट्वीट की है. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

ट्विटर यूज़र कमलजीत सिंह ने इसी दावे के साथ स्ट्रेचर पर लेटे हुए एक घायल व्यक्ति की तस्वीर ट्वीट की है.

फ़ेसबुक यूज़र संजय रंधावा ने ये तस्वीर इसी दावे से पोस्ट की है.

A Brave Sikh was travelling near Shahjahanpur in UP. He saved an unknown girl from rape from four Gangsters and killed…

Posted by Sanjaya Randhawa on Thursday, 15 October 2020

इसके अलावा, लगभग इसी दावे से इन दोनों तस्वीरों के साथ इस घायल व्यक्ति की एक और तस्वीर भी शेयर की गई है. ट्विटर और फ़ेसबुक पर ये तस्वीरें इसी दावे शेयर की गई हैं.

This slideshow requires JavaScript.

फ़ैक्ट-चेक

की-वर्ड्स सर्च करने पर मालूम चला कि उत्तर-प्रदेश के शाहजहांपुर में हाल में ऐसी कोई घटना सामने नहीं आई है. इस मामले की जानकारी हासिल करने के लिए हमने सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म्स खंगाले. शाहजहांपुर पुलिस के ऑफ़िशियल ट्विटर हैन्डल से 14 अक्टूबर 2020 को एक ट्वीट कर इस दावे का खंडन किया गया है. ट्वीट के मुताबिक, “सोशल मीडिया पर कुछ व्यक्तियों द्वारा फ़ोटो लगाकर दुष्प्रचार किया जा रहा है कि एक बहादुर सिख द्वारा यात्रा के दौरान शाहजहांपुर में एक लड़की को बचाया तथा बदमाशों द्वारा उन्हें गोली मारकर घायल कर दिया है.” पुलिस स्टेटमेंट में बताया गया है कि शाहजहांपुर में इस तरह की कोई घटना नहीं हुई है. ये सिर्फ़ एक अफ़वाह है.

शाहजहांपुर पुलिस के इस ट्वीट से एक बात तो साफ़ हो जाती है कि इन तस्वीरों का उत्तर-प्रदेश के शाहजहांपुर से कोई लेना-देना नहीं हैं. आगे, घायल व्यक्ति की तस्वीर रिवर्स इमेज सर्च करने पर 14 मार्च 2019 की जगवाणी पंजाब केसरी की रिपोर्ट मिली. आर्टिकल के अनुसार, वायरल तस्वीर में दिख रहे व्यक्ति की पहचान आम आदमी पार्टी के पटियाला (ग्रामीण) यूनिट के अध्यक्ष चेतन सिंह के रूप में की गई है. पंजाबी भाषा में पब्लिश हुए इस आर्टिकल में बताया गया कि पट्टी विधानसभा क्षेत्र में एक लड़की को कुछ लोग गाड़ी में ज़बरदस्ती ले जाने की कोशिश कर रहे थे. उस वक़्त वहां पर चेतन सिंह मौजूद थे. इस लड़की को बचाने की कोशिश करते हुए वो घायल हो गए. गाड़ी में सवार बदमाशों में से किसी ने चेतन पर गोलिया चलाईं जिनसे वो घायल हो गए. उन्हें तुरंत ही गांववालों ने सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया. बाद में हालत गंभीर होने के पर चेतन को तरनतारन के एक अस्पताल ले जाया गया.

15 मार्च 2019 की द टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट में भी इस घटना की खबर दी गई है. इस रिपोर्ट में आईजीपी सुरेंदर पाल सिंह परमार के हवाले से बताया गया है कि ये लड़की अपना आधार कार्ड लेने के लिए हरिके से पट्टी आई हुई थी. जहां पर गाड़ी में बैठे 6 बदमाशों ने इस लड़की को अगवा करने की कोशिश की. चेतन सिंह वहां पर मौजूद थे. उन्होंने बदमाशों से लड़की को बचाया. इस दौरान बदमाशों ने उनपर गोलियां चला दीं जिसमें एक गोली उनकी गर्दन के पास लगी थी.

इसके अलावा, आम आदमी पार्टी से राज्य सभा सांसद संजय सिंह ने 14 मार्च 2019 को चेतन सिंह की ये तस्वीर ट्वीट करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री से इस मामले में जल्द से जल्द कार्रवाई करने की मांग की थी. संजय सिंह के इस ट्वीट को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी कोट ट्वीट किया था.

गौर करने वाली बात ये है कि हमें इस घटना के बारे में मिली किसी भी मीडिया रिपोर्ट में चेतन सिंह द्वारा 2 बदमाशों की हत्या करने की खबर नहीं मिली.

कुल मिलाकर, 2019 में पंजाब के पट्टी में एक लड़की को बदमाशों से बचाते वक़्त घायल हुए AAP नेता चेतन सिंह की तस्वीरें हाल में उत्तर प्रदेश में हुई घटना की बताकर शेयर की गयीं. तस्वीरों के साथ झूठा दावा किया गया कि उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में लड़की का बचाव करते हुए इस व्यक्ति ने 2 लोगों को मार गिराया.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.