एक CCTV फ़ुटेज जिसमें टोपी पहना एक शख्स किसी व्यक्ति पर रॉड से हमला कर रहा है, काफी शेयर किया जा रहा है. इसे शेयर करते हुए कहा जा रहा है, “कुछ इस तरह हिंदुओं को मार कर एक्सीडेंट साबित कर दिया जाता है केरल में। इस जेहादी की उस हिन्दू से कोई परिचय या दुश्मनी नहीं थी. सिर्फ अकेले में मौका मिला तो उसने ऐक और हिन्दू कम कर दिया अगर cc tv न होता तो ये जेहादी कभी न पकड़ाया होता.”

कुछ इस तरह हिंदुओं को मार कर एक्सीडेंट साबित कर दिया जाता है केरल में।

कुछ इस तरह हिंदुओं को मार कर एक्सीडेंट साबित कर दिया जाता है केरल में।

इस जेहादी की उस हिन्दू से कोई परिचय या दुश्मनी नहीं थी.

सिर्फ अकेले में मौका मिला तो उसने ऐक और हिन्दू कम कर दिया

अगर cc tv न होता तो ये जेहादी कभी न पकड़ाया होता।।।

सावधान रहें-सतर्क रहें।।
.
.
.
.
.
.
#viralpost #viralvideos #viralvideo #viralindia #faridabadjyoti #faridabad #Faridabadnews #cpfaridabad #faridabadpolice #haryanapolice #haryananews #haryana #faridabadwale #hr51wale #faridabadcrime #ballabgarh #ballabgarhnews

Posted by FaridabadjyotiNews on Tuesday, 29 June 2021

ये वीडियो इस दावे के साथ फ़ेसबुक पर वायरल है. ऑल्ट न्यूज़ को इसके व्हाट्सऐप नंबर +91 76000 11160 पर भी इस दावे की पड़ताल की रिक्वेस्ट मिली है.

This slideshow requires JavaScript.

अप्रैल में ये वीडियो ऐसे ही मिलते-जुलते दावों के साथ शेयर हो रहा था.

उस समय ये वीडियो इस दावे के साथ शेयर किया जा रहा था, “कुछ इस तरह हिंदुओं को मार कर एक्सीडेंट साबित कर दिया जाता है केरल में इस जेहादी की उस हिन्दू से कोई परिचय या दुश्मनी नहीं थी केवल अकेले में मौका मिला तो उसने एक और हिन्दू कम कर दिया, यही कुरान इनको सिखाती है। अगर CCTV न होता तो ये जेहादी कभी न पकड़ में आता।सावधान रहें सतर्क रहें।” @UmaShankar2054 नाम के एक यूज़र ने ये फ़ुटेज शेयर करते हुए ये दावा किया है.

@RudraVSR नाम के एक यूज़र ने ये वीडियो शेयर करते हुए यही दावा किया है.

एक ट्विटर यूज़र ने वीडियो के साथ कैप्शन लिखा गया, “हममें मारने की प्रवृति नहीं है, इसमें मैं भी शामिल हूं. हम परिणाम के बारे में सोचते हैं. वो बस सोचते हैं कि ‘जो होगा देखा जायेगा’.” एक अन्य ट्विटर यूज़र @TheMehtaji ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “@narendramodi उनकी ताकत बढ़ा रहे हैं. प्लीज़ कड़ी कार्रवाई की जाये.” एक अन्य यूज़र ने कहा कि भारत में मुस्लिम समुदाय को आर्थिक तौर से बहिष्कृत कर दिया जाना चाहिए.

भाजपा दिल्ली के सोशल मीडिया हेड नवीन कुमार ने भी ये फ़ुटेज शेयर करते हुए लिखा, “कपड़ों से पहचाना जा सकता है.” इसका सन्दर्भ ऐंटी-सीएए प्रदर्शन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक भाषण है जिसमें उन्होंने कहा था कि प्रदर्शन और हिंसा करने वालों को उनके कपड़ों से पहचाना जा सकता है. नवीन कुमार का ट्वीट @seriousfunnyguy ने कोट-ट्वीट किया जिसे पीएम मोदी, पियूष गोयल, स्मृति ईरानी और कपिल मिश्रा फ़ॉलो करते हैं.

भाजपा समर्थक सोनम महाजन ने ट्वीट किया, “सही मायनों में मियां भाई की डेयरिंग.” रिप्लाय सेक्शन में दिख रहा है कि लोग इसे भारत की घटना समझ रहे हैं और उन्हें लग रहा है कि एक मुस्लिम व्यक्ति ने हिन्दू व्यक्ति पर हमला किया.

एक अन्य यूज़र @thakkar_sameet जिसे नरेंद्र मोदी भी फ़ॉलो करते हैं, ने वीडियो शेयर करते हुए यही दावा किया. ये फ़ुटेज तमिल कैप्शन के साथ भी वायरल है.

फ़ैक्ट-चेक

वीडियो में पीछे लोग सिंहली भाषा बोलते सुनाई दे रहे हैं. ये पहला हिंट है कि ये वीडियो श्रीलंका का है.

फ़ैक्ट क्रिशेंडो तमिल ने श्रीलंका के सेंट्रल प्रोविंस में स्थित गलाहा के पुलिस थाने से सम्पर्क किया. ऑफ़िसर इन-चार्ज रोड्रिगो ने फ़ैक्ट क्रिशेंडो को बताया कि इस हमले में कोई सांप्रदायिक ऐंगल नहीं था. उन्होंने कहा, “मुस्लिम व्यक्ति दिमागी तौर से अस्वस्थ है. उसने ये हमला अचानक से किया. हमने उसे तुरंत गिरफ़्तार किया और अपनी कस्टडी में रखा है. फ़िलहाल घायल व्यक्ति का अस्पताल में इलाज चल रहा है.”

फ़ैक्ट क्रिशेंडो के मुताबिक ये घटना श्रीलंका के कांडी के गलाहा की है. इस हमले को श्रीलंकाई मीडिया ने कवर नहीं किया लेकिन वहां के सोशल मीडिया पर वायरल है.

श्रीलंका में एक मुस्लिम व्यक्ति द्वारा एक अन्य व्यक्ति पर किये गये हमले का वीडियो भारत में सोशल मीडिया पर साम्प्रदायिक ऐंगल के साथ वायरल है. श्रीलंका की पुलिस ने साफ़ किया है कि हमले का कोई धार्मिक सम्बन्ध नहीं है और हमलावर दिमागी तौर से बीमार है.


कांग्रेस के ट्वीट के बाद रिपब्लिक भारत ने डिलीट किया अपना ट्वीट और दिखाई सही ख़बर

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

Tagged: