सोशल मीडिया पर 11 सेकंड की एक वीडियो क्लिप वायरल है. वीडियो में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भाषण दे रहे हैं. वो कहते हैं, “राम में जो ‘र’ उसका मतलब है ‘राम’ और राम के ‘म’ का मतलब मोहम्मद है.” ये वीडियो शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि मुस्लिम वोट के लिए अशोक गहलोत ने ऐसा बयान दिया.

ट्विटर यूज़र ‘अखण्ड भारत संकल्प’ ने ये वीडियो ‘#कांग्रेस_मुक्त_भारत’ के साथ ट्वीट किया. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

भाजपा राजस्थान के सोशल मीडिया हेड अभिषेक आचार्य कुलश्रेष्ठा ने भी ये वीडियो इसी दावे के साथ ट्वीट किया और अशोक गहलोत को ‘घटिया’ मुख्यमंत्री बताया. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

और भी कई यूज़र्स ने ये वीडियो इसी दावे के साथ ट्वीट किया है.

फ़ेसबुक पर ये वीडियो वायरल है.

फ़ैक्ट-चेक

इस वीडियो के बारे में पता लगाने के लिए ऑल्ट न्यूज़ ने यूट्यूब पर की-वर्ड्स सर्च किया. अशोक गहलोत की यूट्यूब चैनल से इस कार्यक्रम का पूरा वीडियो 28 मई को पोस्ट किया गया था. कैप्शन में बताया गया है कि नागौर ज़िले के रेण गांव में ब्रह्मलीन आचार्य श्री हरिनारायण जी महाराज के देवल का उद्घाटन किया गया था. इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी शामिल हुए थे.

नीचे वीडियो में वायरल वीडियो का हिस्सा 41 मिनट 24 सेकंड से शुरू होता है. अशोक गहलोत बताते हैं, “दरियाजी महाराज ने कहा था कि राम में जो है ‘र’ वो तो मतलब है ‘राम’ का और ‘म’ है ‘राम’ का ‘म’ उसका मतलब है ‘मोहम्मद’ है. ऐसी हिन्दू-मुस्लिम एकता के प्रतीक दरियाव जी महाराज थे.” यहां साफ जो जाता है कि अशोक गहलोत ने ‘राम’ शब्द में ‘म’ का मतलब मोहम्मद बताने वाली बात दरियाव जी महाराज को कोट करते हुए उन्हीं के एक कार्यक्रम में कही थी.

सर्च करने पर ऑल्ट न्यूज़ को 2017 का एक ब्लॉग मिला. इस ब्लॉग में दरियाव जी महाराज के हवाले से लिखा है, ‘र’ रा तो रब्ब आप है, ‘म’ मा मोहम्मद जाण। दोय हरफ के मायनें, सब ही वेद पुराण.”

आगे, ऑल्ट न्यूज़ ने दिव्य देवल पीठ में संपर्क किया. वहां के पीठाध्यक्ष आचार्य सज्जनराम ने बताया कि 28 मई को अशोक गहलोत ने राम शब्द में ‘म’ का मतलब मोहम्मद बताते हुए जो बयान दिया था, वो असलियत में दरियाव जी महाराज को कोट करते हुए कहा था. दरियाव जी महराज ने कहा था कि ‘र’ रा तो रब्ब आप है, ‘म’ मा मोहम्मद जाण. साथ में आचार्य सज्जनराम ने हमें ‘श्री दरियाव दिव्य वाणी’ नाम की किताब के कुछ पन्नों की तस्वीरें भेजीं. किताब में हिन्दू मुस्लिम एकता को बढ़ावा देने वाले कई दोहे हैं जिसमें वायरल वीडियो में बोला गया दोहा भी शामिल है.

This slideshow requires JavaScript.

कुल मिलाकर, अशोक गहलोत ने दरियाव जी महाराज के हवाले से ‘म’ को मोहम्मद बताया था. उनके भाषण का क्लिप वीडियो भ्रामक दावे के साथ शेयर किया गया. ये दरियाव जी महाराज के एक दोहे का अंश है जिसमें उन्होंने हिन्दू-मुस्लिम एकता की बात करते हुए ये दोहा लिखा था. हालांकि अशोक गहलोत ने दरियाव जी महाराज को पूरा सही कोट नहीं किया है. उन्होंने र का ‘रब्ब’ कहा था ‘राम ‘नहीं.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

Tagged: