सूदर्शन न्यूज़ ने 16 अक्टूबर को एक वीडियो ट्वीट किया. वीडियो में व्यक्ति एक लड़के की पिटाई कर रहा है. दावा है कि तमिलनाडु में एक ईसाई शिक्षक ने एक हिन्दू छात्र को इसलिए पीटा क्यूंकि उसने रूद्राक्ष पहना हुआ था. आर्टिकल लिखे जाने तक इस ट्वीट को साढ़े 3 हज़ार से ज़्यादा बार रीट्वीट किया जा चुका था. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

सूदर्शन न्यूज़ के प्रधान संपादक सुरेश चव्हाणके ने भी ये वीडियो इसी दावे के साथ ट्वीट किया. आर्टिकल लिखे जाने तक इस ट्वीट को 3 हज़ार 700 से भी ज़्यादा बार रीट्वीट किया जा चुका है.(आर्काइव लिंक)

फ़ेसबुक से लेकर ट्विटर तक, ये वीडियो इसी दावे के साथ वायरल है.

फ़ैक्ट-चेक

की-वर्ड्स सर्च करने पर ऑल्ट न्यूज़ ने पाया कि ये वीडियो तमिलनाडु के चिदंबरम गांव की घटना से जुड़ा था. मामला कुछ यूं था कि नंदनार गवर्नमेंट बॉयज़ हायर सेकंडरी स्कूल में बारहवीं कक्षा के दलित छात्र को एक टीचर ने पीटा था. क्लासरूम में बैठे अन्य छात्रों ने इस पूरी घटना को मोबाइल में रिकार्ड कर लिया. इसके बाद ये मामला सामने आया था.

15 अक्टूबर की द हिन्दू की रिपोर्ट में पुलिस के हवाले से बताया गया कि हेडमास्टर स्कूल में चक्कर लगा रहे थे. तभी उन्होंने देखा कि ये ये छात्र क्लास अटेंड नहीं कर रहा था. हेडमास्टर इस लड़के को क्लासरूम में ले गए और वहा फिज़िक्स टीचर सुब्रमनियन से इसकी शिकायत की. इस बात पर सुब्रमनियन ने 17 साल के इस लड़के की पिटाई की. लड़के की जांघ पर चोटें आई थीं. इसके चलते उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था. पुलिस ने इस मामले में छात्र की शिकायत पर केस दर्ज किया और टीचर को गिरफ़्तार किया.

द फ़्री प्रेस जर्नल, ANI की रिपोर्ट्स में भी छात्र को पीटने वाले टीचर की पहचान सुब्रमनियन के रूप में की गयी.

आगे, तमिल नाडु में रूद्राक्ष पहनने को लेकर किसी टीचर ने हिन्दू छात्र की पिटाई की है या नहीं, ये जानने के लिए ऑल्ट न्यूज़ ने तमिल में की-वर्ड्स सर्च किया. द हिन्दू तमिल की 16 अक्टूबर की रिपोर्ट के मुताबिक, कांचीपुरम में एक टीचर ने छात्रों को रूद्राक्ष पहनने पर कथित रूप से क्लास में जाने से रोक दिया था. रिपोर्ट में टीचर द्वारा छात्रों को कथित रूप से सर पर मारने की भी बात बतायी गयी है. ABP तमिल की रिपोर्ट में स्कूल टीचर्स के हवाले से बताया गया था कि स्कूल में माला, कान की बाली पहनने की मनाही है. उनका कहना है कि बच्चे ये चीज़े स्कूल के बाहर पहन सकते हैं.

वहीं AIADMK के प्रवक्ता कोवाई सत्या ने इस मामले को लेकर राज्य सरकार पर निशाना साधा था. साथ में उन्होंने बच्चों के माता-पिता द्वारा की गई शिकायत पत्र की तस्वीर ट्वीट की थी. बूम की फ़ैक्ट-चेक रिपोर्ट में शिकायत पत्र का अनुवाद करते हुए लिखा है कि कांचीपुरम के एंडर्सन हाई स्कूल में 10 वीं कक्षा में पढ़ने वाले 2 बच्चों को उनके क्लास टीचर जॉयसन ने रुद्राक्ष पहनने और माथे पर भभूत लगाने के कारण पीटा था. उन्हें ‘राउड़ी’ कह कर क्लास में दाखिल होने से रोक दिया गया था. बाकी बच्चों को बुलाकर इन 2 बच्चों के सिर पर वार करवाया गया. माता-पिता ने बताया कि बच्चे काफ़ी डरे हुए हैं. उन्होंने इस मामले पर स्कूल और प्रसाशन के खिलाफ़ सख्त से सख्त कारवाई करने की मांग की.

ETV भारत ने भी इस घटना पर एक आर्टिकल पब्लिश किया था. इस रिपोर्ट में भी आरोपी स्कूल टीचर का नाम जॉयसन बताया गया है.

कुल मिलाकर, तमिलनाडु में टीचर ने एक छात्र को क्लास में मौजूद न होने पर पीटा था. इस घटना का वीडियो सूदर्शन न्यूज़ ने तमिलनाडु की दूसरी घटना से जोड़कर शेयर किया.


CAA-NRC, अमित शाह आदि नेताओं के बारे में बात करता शख्स DPS राजबाग में पढ़ाने वाला शकील अंसारी?

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged: