बिहार में सियासी हलचल ज़ोंरों पर है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मिलकर NDA सरकार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. इसके साथ ही उन्होंने महागठबंधन के साथ मिलकर नए सिरे से सरकार बनाने का दावा भी पेश किया. इन खबरों के बीच एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है. इसमें नीतीश कुमार कह रहे हैं, “इसके बाद किसी भी परिस्थिति में लौट के जाने का प्रश्न नहीं पैदा होता. हम रहें या मिट्टी में मिल जाएँ, आपलोगों के साथ अब कोई समझौता भविष्य में नहीं होगा. असंभव ! अब ये संभव ही नहीं है. नामुमकिन ! अब वो चैप्टर खत्म हो चुका, क्योंकि भरोसे को आपलोगों ने तोड़ा”. ये वीडियो शेयर करते हुए कई भाजपा नेता, पत्रकार, और सोशल मीडिया यूज़र्स ने दावा किया कि नीतीश कुमार, राजद के लिए ये बातें कह रहे हैं.

ANI से जुड़े पत्रकार अमित कुमार ने ये वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा, “हम भले ही मिट्टी में मिल जाए लेकिन राजद के साथ समझौता नहीं करेंगे. ये बयान नीतीश कुमार ने विधानसभा में दिया था. आप खुद सुनिए” (आर्काइव लिंक)

भाजपा दिल्ली के IT सेल के हेड पुनीत अग्रवाल ने भी नीतीश कुमार के इस बयान को राजद के खिलाफ बताकर ट्वीट किया. (आर्काइव लिंक)

भाजपा मध्य प्रदेश के नेता व पूर्व IT सेल के स्टेट इंचार्ज शिवम सिंह दाबी ने भी ये वीडियो ट्वीट करते हुए ऐसा ही दावा किया. (आर्काइव लिंक)

राइट विंग प्रॉपगेंडा वेबसाइट न्यूज़रूम पोस्ट ने वीडियो रिपोर्ट में ऐसा ही दावा किया.

इसी प्रकार भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला, आज तक के ऐंकर शुभांकर मिश्रा, RSS मुखपत्रिका eOrganiser से जुड़े निशांत आजाद, अक्सर ग़लत जानकारियां फैलाते हुए पकड़े जाने वाले अकाउंट पॉलिटिकल कीड़ा, MrSinha_, इत्यादि ने भी इस वीडियो को इसी दावे के साथ ट्वीट किया.

This slideshow requires JavaScript.

ये वीडियो इसी दावे के साथ सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म ट्विटर पर वायरल है.

फ़ैक्ट-चेक

ऑल्ट न्यूज़ ने वायरल वीडियो से जुड़े की-वर्ड्स गूगल पर सर्च किए. हमें दैनिक जागरण का 18 फरवरी 2014 का एक आर्टिकल मिला. इस रिपोर्ट के मुताबिक, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, भाजपा से दोबारा जुड़ने की बात को नकारते हुए कहा कि वो मिट्टी में मिल जाएंगे लेकिन भाजपा से समझौता नहीं करेंगे. आगे उन्होंने कहा कि ये असंभव है, ये चैप्टर अब बंद हो चुका है.

आगे, हमने भारत सरकार के वीडियो पोर्टल ‘वेबकास्ट’ पर मौजूद बिहार विधानसभा के 18 फरवरी 2014 को हुए लाइव वेबकास्ट को सुना. यहां विधानसभा का पूरा वीडियो है.

इस वीडियो के 1 घंटे 19 मिनट 23 सेकंड पर नीतीश कुमार कहते हैं, “विश्वासघात हमने नहीं किया, विश्वासघात आपलोगों ने किया, और ये उलटी बात है. लेकिन अब, जबकि ये घटना घट चुकी, 17 साल के बाद ये घटना घट चुकी, तब एक बात जान लीजिए – भरोसा किया था, वो अटल जी का एरा था, अब अटल जी का एरा नहीं है. इसलिए आडवाणी जी ने फोन किया था जब हमलोग अलग हो रहे थे, कि आपको अध्यक्ष ने वचन दिया है, उसको निभाया जाएगा. हमने कहा कि अब संभव हमलोगों के लिए नहीं है. और जो अध्यक्ष ने वचन दिया, अब वो अध्यक्ष हैं नहीं. और कौन इन बातों को सुनेगा? इसलिए हमलोग अपने रास्ते पर चले. तो अब वो एरा समाप्त हो चुका है, अब आपका नया अवतार हो चुका है.”

आगे, इस वीडियो में 1 घंटे 20 मिनट 13 सेकंड पर नीतीश कुमार कहते हैं, “अब इसके बाद, किसी भी परिस्थिति में, लौट कर जाने का प्रश्न नहीं पैदा होता है. हम रहें या मिट्टी में मिल जाएँ, आपलोगों के साथ अब कोई समझौता भविष्य में नहीं होगा. असंभव ! अब ये संभव ही नहीं है. नामुमकिन ! अब वो चैप्टर खत्म हो चुका, क्योंकि भरोसे को आपलोगों ने तोड़ा”

इस वीडियो में नीतीश कुमार का ये बयान दिया गया है.

कुल मिलाकर, कई भाजपा नेताओं, पत्रकारों और सोशल मीडिया यूज़र्स ने नीतीश कुमार द्वारा बिहार विधानसभा में भाजपा के खिलाफ़ गए बयान को राजद के लिए दिया गया बयान बताकर शेयर किया.

 

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

Tagged:
About the Author

Abhishek is a journalist at Alt News.