इंडिया टुडे ने अपने एक हालिया फ़ैक्ट-चेक में अभिनेता और फ़िल्म ऐंड टेलीविज़न इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया के पूर्व अध्यक्ष गजेन्द्र चौहान के एक ट्वीट को फ़ेक बताया. चैनल के मुताबिक गजेन्द्र चौहान के नाम पर मॉर्फ़ स्क्रीनशॉट वायरल हुआ जिसमें लिखा था, “मैं श्रृंगी यादव के साथ हूं, राष्ट्र एक राष्ट्रवादी के साथ. (I Am With Shringi Yadav. Nation With A Nationalist. #IStandWithShringiYadav).” लेकिन इंडिया टुडे के फ़ैक्ट-चेक के मुताबिक़ गजेन्द्र चौहान ने इस घटना पर कोई टिप्पणी नहीं की थी. बता दें कि हाल ही में यूपी के ग़ाज़ियाबाद में एक शख्स श्रृंगी यादव ने मुस्लिम समुदाय के नाबालिग लड़के को सिर्फ़ इसलिए पीटा था क्योंकि उसने मंदिर में पानी पिया था. वीडियो वायरल होने पर लोगों ने आवाज़ उठाई और ग़ाज़ियाबाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया. फ़िलहाल उसे ज़मानत पर रिहा किया गया है.

इंडिया टुडे ने इस ट्वीट को फ़ेक बताते हुए ये कारण दिए :

1. ट्विटर एडवांस सर्च में ट्वीट सामने नहीं आता.

2. स्क्रीनशॉट में तारीख़ और समय ट्विटर फ़ॉर्मैट के मुताबिक नहीं हैं.

नीचे एक ट्वीट है जिसमें ‘AM या PM’ नहीं दिख रहा है और तारीख़ लिखी है 16/03/21, जो डेस्कटॉप पर आमतौर पर ‘Mar 16, 2021′ होती है और एंड्रॉइड फ़ोन में ’16 Mar 21’.

इंडिया टुडे ने ग़लत फ़ैक्ट-चेक किया

गजेन्द्र चौहान ने ग़ाज़ियाबाद में नाबालिग लड़के को पीटने वाले श्रृंगी यादव के समर्थन में ट्वीट किया था. नीचे वो ट्वीट है और इसका आर्काइव आप यहां देख सकते हैं.

इंडिया टुडे ने तारीख़ और समय के फ़ॉर्मैट के आधार पर इस ट्वीट को फ़र्ज़ी बता दिया था. लेकिन फ़ोन सेटिंग में अंतर जानने पर पता चल जाता है कि ज़रूरी नहीं कि सभी डिवाइस में एक जैसे फ़ॉर्मैट हों. नीचे गजेन्द्र चौहान का एक और ट्वीट है जिसमें तारीख़ का फ़ॉर्मैट DD/MM/YY है और समय में ‘AM या PM’ नहीं है. ऐसा इसलिए क्योंकि ट्वीट एक आईफ़ोन में खोला गया है जिसमें 24 घंटे की टाइम सेटिंग है. यही ट्वीट जब हम एक एंड्रॉइड फ़ोन में 12 घंटे की टाइम सेटिंग में खोलते हैं तो फ़ॉर्मैट बदल जाता है.

इंडिया टुडे के लिए ये जानना आसान था कि ये असली ट्वीट है क्योंकि कई लोगों ने इसे कोट-ट्वीट किया था. नीचे पत्रकार आदित्य मेनन और उज़ैर हसन रिज़वी के ट्वीट्स देखे जा सकते हैं.

 

गजेन्द्र का ये ट्वीट डिलीट किये जाने से पहले ही बड़ा मुद्दा बन चुका था.

ये भी गौर किया जाये कि इंडिया टुडे की ग़लत फ़ैक्ट-चेक रिपोर्ट की वजह से ओरिजिनल ट्वीट के स्क्रीनशॉट को फ़ेसबुक पर फ़ेक टैग दिया गया है.

यानी, इंडिया टुडे ने गजेन्द्र चौहान के ट्वीट पर पर्दा डालते हुए उसे फ़र्ज़ी बता दिया. गजेन्द्र चौहान ने मुस्लिम समुदाय के नाबालिग लड़के को पीटने वाले श्रृंगी यादव के समर्थन में ट्वीट किया था और बाद में ट्वीट डिलीट कर लिया.

इस फ़ैक्ट-चेक पर सवाल खड़े होने के बाद आउटलेट ने अपनी गलती मानते हुए एक ट्वीट में रिपोर्ट अपडेट करने की जानकारी दी.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged:
About the Author

Pooja Chaudhuri is a senior editor at Alt News.