विंग कमांडर अभिनंदन के नाम से फ़र्ज़ी बयान वायरल: “पुलवामा हमला, भाजपा की साजिश”

“पुलवामा हमला बीजेपी की सोची समझी साजिश थी -विंग कमांडर अभिनंदन” – एक अखबार क्लिप के साथ पोस्ट किया गया यह संदेश सोशल मीडिया में प्रसारित किया जा रहा है। इस क्लिप में भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन वर्तमान के नाम से एक उद्धरण दिया गया है। इसमें कहा गया है, “पुलवामा हमला बीजेपी की सोची समझी साजिश थी और पाकिस्तान पर नकली हमला करवाया, मोदी को चुनाव जीतने के लिए इमरान खान मदद कर रहा है। बालाकोट पर बमबारी इमरान खान की सहमति से हुई है”। भारतीय वायुसेना के एक पायलट, जो बालाकोट हवाई हमले में सीधे तौर पर शामिल थे, के नाम से उक्त कथन वाली अखबार की यह कतरन — उस हमले को भाजपा की साजिश बताते हुए –- विश्वसनीयता की मुहर लगाने वाले बयान के रूप में सामने आई है।

फेसबुक और ट्विटर पर कई अन्य लोगों ने इस क्लिपिंग को उसी संदेश के साथ शेयर किया है।

तथ्य-जांच

वर्तमान के नाम से दिया गया बयान सशस्त्र बलों के किसी सेवारत अधिकारी के लिए असामान्य है, जिसमें वह किसी अन्य राजनीतिक दल, सीधे तौर पर सत्तारूढ़ पार्टी के खिलाफ आरोप लगा रहे हैं। इतना तो कहा ही जा सकता है कि अगर अभिनंदन वर्तमान ने सत्तारूढ़ दल के खिलाफ इस स्तर के आरोपों वाला बयान जारी किया होता, तो इसकी बड़े पैमाने पर खबर हुई होती और इससे भारी राजनीतिक हंगामा होता।

लेकिन गूगल न्यूज़ पर विश्वसनीय मीडिया रिपोर्टों की खोज करने पर, हमें ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं मिली, जिसमें उक्त कथन दिया गया हो।

विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान लोगों की नजरों में उस समय के बाद ज़्यादा नहीं आए, जब उन्हें पाकिस्तान की सेना ने पकड़ा था और बाद में 1 मार्च, 2019 को रिहा कर भारत को सौंपा था। लेकिन हाल ही, सहयोगी साथियों के साथ बातचीत और सेल्फी लेने के एक वीडियो के बाद वह खबरों में आ गए जब यह सोशल मीडिया में वायरल हुआ और मीडिया ने इसकी खबरें कीं।

अख़बार क्लिप की पड़ताल

ऑल्ट न्यूज़ ने पाया कि वर्तमान में सोशल मीडिया में प्रसारित की जा रही अखबार की कतरन, वर्तमान के नाम से दिए गए बयान के संबंध में दैनिक जागरण द्वारा प्रकाशित एक तथ्य-जांच लेख से ली गई थी। दैनिक जागरण की तथ्य-जांच भी इसी निष्कर्ष पर पहुंची कि बयान नकली है।

निष्कर्षतः, एक तथ्य-जांच लेख की अखबार क्लिप को, जिसमें यह निर्धारित किया गया था कि IAF पायलट अभिनंदन वर्तमान के नाम से दिया गया उद्धरण नकली है, सोशल मीडिया में उसी उद्धरण की विश्वसनीयता दिखलाने के लिए प्रसारित किया गया।

योगदान करें!!
सत्ता को आइना दिखाने वाली पत्रकारिता जो कॉरपोरेट और राजनीति के नियंत्रण से मुक्त भी हो, वो तभी संभव है जब जनता भी हाथ बटाए. फेक न्यूज़ और गलत जानकारी के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद कीजिये. डोनेट करिये.

Donate Now

तत्काल दान करने के लिए, ऊपर "Donate Now" बटन पर क्लिक करें। बैंक ट्रांसफर / चेक / डीडी के माध्यम से दान के बारे में जानकारी के लिए, यहां क्लिक करें

Send this to a friend