सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल है. इस वीडियो में एक ठेलेवाला व्यक्ति जग में पेशाब करते हुए दिख रहा है. पेशाब करने के बाद वो उसे अपने ठेले पर रखी बाल्टी में डाल देता है. ट्विटर यूज़र पवन सक्सेना ने ये वीडियो ट्वीट किया. (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

उमा शंकर राघव नाम के ट्विटर यूज़र ने भी ये वीडियो इसी मेसेज के साथ ट्वीट किया है. (आर्काइव लिंक)

फ़ेसबुक यूज़र ‘भगवा रक्षक’ ने ये वीडियो ऐसे ही दावे के साथ पोस्ट किया है. आर्टिकल लिखे जाने तक इसे 16 हज़ार बार देखा जा चुका है. (आर्काइव लिंक)

 

रिकार्ड तोड़ हरामीपना 😡😡😡
पहले जग में पेशाब किया और वह पेशाब पीने वाले पानी में आधा डाला और आधा बाहर फेंक दिया ताकि ग्राहक को भी पता ना चले
बाहर खाने पीने के शौकीन लोगों इन जिहादियों का क्या करोगे😡😡

Posted by भगवा रक्षक on Thursday, 19 August 2021

ट्विटर यूज़र ‘हम लोग We The People’ ने ये वीडियो ट्वीट करते हुए इस व्यक्ति का नाम खलील भाई बताया (आर्काइव लिंक). ट्विटर हैन्डल ‘@cbpunjabi’ ने भी इसी दावे के साथ ये वीडियो पोस्ट किया है.

फ़ेसबुक पर ये वीडियो वायरल है.

फ़ैक्ट-चेक

वीडियो के फ़्रेम्स को गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें कुछ मीडिया रिपोर्ट्स मिलीं. 20 अगस्त की प्रतिदिन टाइम्स की रिपोर्ट में बताया गया है कि गुवाहाटी में एक गोलगप्पे के ठेलेवाले को पानी में पेशाब मिलाने के लिए गिरफ़्तार किया गया था. आर्टिकल में लिखा है कि इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. और इसके चलते ये पूरा मामला संज्ञान में आया था. रिपोर्ट में आरोपी की पहचान भूतनाथ इलाके के रहनेवाले 60 वर्षीय अक्रूल सहानी के रूप में की गई है. रिपोर्ट में लिखा है कि इस वीडियो के सामने आने के बाद स्थानीय लोगों का गुस्सा भड़क गया था. खबर के मुताबिक, पुलिस अभी इस पूरे मामले की जांच कर रही है.

टाइम 8, पराग न्यूज़, गुवाहाटी प्लस जैसे मीडिया संगठनों ने भी इस घटना के बारे में आर्टिकल पब्लिश किया था. न्यूज़ चैनल ‘DY365’ ने भी इस घटना के आरोपी की पहचान अक्रूल सहानी के रूप में की है.

पराग न्यूज़ ने इस घटना के बारे में एक वीडियो रिपोर्ट भी शेयर की है.

सर्च करते हुए हमें ये वीडियो 14 अगस्त को पोस्ट किया हुआ मिला. हमें इस वीडियो को शेयर करने का सबसे पुराना उदाहरण यही मिला.

 

আপুনি চাটো (chatwa) খাই নেকি……???
যদি খাই তেনেহলে সাৱধান!!
গুৱহাটীৰ আঠ গাওঁ কবৰ স্থানৰ সমিপত chatwa বিক্ৰী কৰি থকা জনলৈ চাওক, তেওঁ এটা মগত দুটা কাম কৰিছে, কিদৰে ব্যক্তি জনে একেতা মগত প্ৰস্ৰাৱ কৰি আকৌ সেইটোকেই ব্যাবহাৰ কৰিছে।
এনেকুৱা ব্যৱসায়ী উচিত শাস্তী পাবনে ?
মানুহে খোৱা খাদ্যত এনেকুৱা কাম কৰিছে।।

Posted by Amar Jyoti Bordoloi on Saturday, 14 August 2021

इसके चलते, ऑल्ट न्यूज़ ने वीडियो पोस्ट करने वाले अमर ज्योति से भी संपर्क किया. उन्होंने बताया, “14 अगस्त को मैंने ये वीडियो रिकॉर्ड किया था. मैंने इसे फ़ेसबुक पर भी शेयर किया था. इस मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ़्तार भी कर लिया है. जहां तक मेरी जानकारी में है, ये ठेलेवाला मुस्लिम समुदाय से नहीं है.”

आज तक ने इस मामले में भरालुमुख पुलिस से भी बात की थी. पुलिस स्टेशन की इंचार्ज ज्योति लहाना के हवाले से आज तक की रिपोर्ट में बताया गया है कि ये ठेलेवाला मुस्लिम समुदाय से नहीं है. रिपोर्ट में लिखा है -, “ज्योति का कहना था कि इस ठेले वाले का नाम अक्रूल सहानी है और वो बिहार का रहने वाला है. ज्योति के अनुसार अक्रुल सहानी हिंदू है, ना कि मुस्लिम.”

कुल मिलाकर, गुवाहाटी के भरालुमूख इलाके में एक ठेलेवाले ने जग में पेशाब कर उसे ठेले पर रखी बाल्टी में रखा था. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए झूठा दावा किया गया कि ये व्यक्ति मुस्लिम समुदाय से है.


तालिबान के अफ़गानिस्तान पर कब्जे से पहले देश छोड़ते हुए अशरफ़ ग़नी ने तालिबानी नेता को गले लगाया था?

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged: