सोशल मीडिया पर एक वीडियो काफ़ी शेयर किया जा रहा है. वीडियो में एक लड़की सड़क पर खड़ी है. कुछ देर बाद वहां एक लड़का बाइक लेकर आता है. वहीं 2 लड़के जो इस पूरी घटना को रिकार्ड कर रहे होते हैं, लड़के को पकड़ लेते हैं. ये वीडियो शेयर करते हुए कहा जा रहा है कि ये लड़का मुस्लिम समुदाय से है और एक छोटी लड़की को फंसाकर अपने साथ ले जा रहा था. अजय शुक्ला नाम के फ़ेसबुक यूज़र ने ये वीडियो ‘लव-जिहाद’ का दावा किया. आर्टिकल लिखे जाने तक इस वीडियो को 26 हज़ार बार देखा जा चुका है.

 

देखो ये जिहादी एक छोटी सी बच्ची को लव जिहाद कर अपने जाल में फंसा रहा है
क्या उम्र होगी इस छोटी सी बच्ची की ।।

Posted by Ajay Shukla on Monday, 6 December 2021

फ़ेसबुक यूज़र ‘हिन्दू जय सेन’ ने ये वीडियो इसी दावे के साथ पोस्ट किया.

 

देखो यह मुल्ला इस बच्ची को बहला फुसला के लव जेहाद में फंसा रहा है, क्या उम्र होगी इस बच्ची की

Posted by हिन्दू जय सेन on Monday, 6 December 2021

कई फ़ेसबुक और ट्विटर यूज़र्स ने ये वीडियो इसी दावे के साथ शेयर किया है.

This slideshow requires JavaScript.

फ़ैक्ट-चेक

हाल ही में ऑल्ट न्यूज़ ने ऐसे कई वीडियोज़ का फ़ैक्ट-चेक किया है जो असल में स्क्रिप्टेड होते हैं. यानी, जिनकी पटकथा पहले से लिखी होती है लेकिन उन्हें गलत दावों के साथ शेयर किया जाता है. ये वीडियोज़ जागरूकता फैलाने के लिए या शैक्षिक उदेश्य से बनाए जाते हैं. वायरल वीडियो देखकर हमें संदेह हुआ कि शायद ये वीडियो भी स्क्रिप्टेड है.

हमने फ़ेसबुक पर की-वर्ड्स सर्च किया. फ़ेसबुक यूज़र दीपिका शाह ने इसका लम्बा वीडियो 21 दिसम्बर को पोस्ट किया था.

स्कूल के नाम पे ये लड़की देखें कहाँ चली जाती हैं , माँ -बाप ध्यान जरूर रखें

स्कूल के नाम पे ये लड़की देखें कहाँ चली जाती हैं , माँ -बाप ध्यान जरूर रखें

Posted by Deepika Shah on Tuesday, 21 December 2021

इस वीडियो में 5 मिनट 38 सेकंड पर एक डिसक्लेमर दिखता है जिसके मुताबिक, ये वीडियो काल्पनिक है और इसे जागरूकता फैलाने के मकसद से बनाया गया है.

दीपिका की फ़ेसबुक प्रोफ़ाइल देखने पर हमें मालूम चला कि वो इस तरह के स्क्रिप्टेड वीडियोज़ शेयर रहती है. इसके अलावा, वायरल वीडियो में दिख रही लड़की उनके और कुछ वीडियोज़ में भी दिखती है. (लिंक 1, लिंक 2)

कुल मिलाकर, सोशल मीडिया पर एक और स्क्रिपटेड वीडियो शेयर करते हुए झूठा सांप्रदायिक दावा किया जा रहा है.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

Tagged: