राज्यसभा सदस्य और पूर्व पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कोयला ले जा रही एक ट्रेन का वीडियो ट्वीट करते हुए दावा किया कि पॉवर प्लांट्स के कोयले की आपूर्ति के लिए चार इंजन वाली 4 किलोमीटर लंबी रैक ट्रेन “युद्ध स्तर” पर चल रही है.

इस वीडियो को कोयले की भारी कमी का सामना कर रहे थर्मल पावर प्लांट वाले मामले के संदर्भ में शेयर किया गया जिसके अनुसार “थर्मल स्टेशनों की बढ़ती संख्या में कोयला स्टॉक में औसतन चार दिनों के ईंधन की कमी आई है.” इस संकट के लिए सरकार की आलोचना हो रही है क्यूंकि फ़रवरी में कोल इंडिया ने संघीय बिजली मंत्रालय के सलाहकार को आने वाली ईंधन की कमी के बारे में चेतावनी दी थी.

न्यूज़18 ने जावड़ेकर के ट्वीट के आधार पर एक स्टोरी पब्लिश की. रिपोर्ट के मुताबिक, “भारतीय रेलवे ने पहली बार पॉवर प्लांट्स को कोयले की आपूर्ति के लिए चार इंजन वाली चार किलोमीटर लंबी ट्रेन चलाई है. देश भर में कोयले की कमी के बीच विशेष ट्रेनों के माध्यम से बहुत ज़रूरी आपूर्ति को बनाए रखने की सूचना मिली.”

आज तक ने भी इस ट्वीट के आधार पर एक आर्टिकल पब्लिश किया. (आर्काइव लिंक)

वीडियो को इसी दावे के साथ बीजेपी दिल्ली के जनरल सेक्रेट्री कुलजीत सिंह चहल और यूपी के बीजेपी प्रवक्ता राजेश चौधरी ने शेयर किया.

एक्टर विंदू दारा सिंह ने भी वीडियो ट्वीट किया.

बीजेपी समर्थक हैंडल @RenukaJain6, @PAlearner और @KharkhariAmit को इस क्लिप के लिए हजारों व्यूज मिले.

वीडियो को फ़ेसबुक पर भी शेयर किया गया है. नीचे दी गई पोस्ट, फ़नक्लोविटा ने की थी, जिसे इस आर्टिकल के लिखे जाने तक करीब 60 हज़ार बार देखा गया है.

4 km long Rack train with 4 engines being run on war footing basis to supply coal to power plants.
Indian railway 🔥

Posted by Funclovita on Wednesday, 20 October 2021

आठ महीने पुराना वीडियो

IRTS असोसिएशन ने 6 जनवरी, 2021 को ये वीडियो ट्वीट किया था. ऑल्ट न्यूज़ के एक पाठक ने हमें प्रकाश जावड़ेकर के भ्रामक ट्वीट के बारे में बताते हुए ये ट्वीट ईमेल किया.

उस समय भी मीडिया में इसे रिपोर्ट किया गया था. 7 जनवरी को प्रकाशित नई दुनिया के एक आर्टिकल के मुताबिक, चार मालगाड़ियों में 16 हजार टन कोयला लोड कर वासुकी ने कोरबा से भिलाई के बीच 280 किलोमीटर की पहली दाैड़ पूरी की, जो रेलवे के लिए नया कीर्तिमान था. ट्रेन में चार कोयले से भरे रैक थे जिनसे अलग-अलग पॉवर प्लांट्स में कोयला बांटा जाता था. इनमें से एक रैक नागपुर मंडल के अंतर्गत जबलपुर के पास मौदा NTPC को भेजा गया. 2 को गुजरात में TPHS और ESWS को भेजा गया और बाकी को महाराष्ट्र में BRD दहानू रोड भेजा गया था.

बाद में उसी दिन रेल मंत्रालय ने वीडियो का एक लंबा वर्जन ट्वीट किया था, लेकिन इसमें ट्रेन की पहचान ‘सुपर शेषनाग’ बताई गई.

प्रकाश जावड़ेकर ने जो वीडियो ट्वीट किया वो बिल्कुल जनवरी में पोस्ट हुए वीडियो जैसा ही है. और अगर ध्यान से देखा जाए, तो दोनों वीडियो में प्लेटफ़ॉर्म पर लगी घड़ी में 6 बजकर 35 मिनट का समय ही दिख रहा है.

कोयला ले जा रही एक मालगाड़ी का आठ महीने पुराना वीडियो भाजपा नेता प्रकाश जावड़ेकर ने हाल ही में ये दिखाने के लिए ट्वीट किया कि सरकार मौजूदा कोयले की कमी के बीच पॉवर प्लांट्स को कोयले की आपूर्ति कर रही है.


बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के दौरान हुई हिंसा से जोड़कर फैलाई गयी ग़लत जानकारियां, देखिये

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged:
About the Author

Pooja Chaudhuri is a senior editor at Alt News.