सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया जा रहा है जिसमें पुलिसवाले बहस के बाद एक व्यक्ति को जबरन खींचते हुए ले जा रहे हैं. इसके साथ मलयालम में कैप्शन है, “उनके पिता प्रधानमंत्री थे, पिता की मां प्रधानमंत्री थीं, उनकी दादी प्रधानमंत्री थीं. अगर उनकी ये दशा है तो सोचिए आम आदमी का क्या होगा?” यानी वो वीडियो में राहुल गांधी के होने की बात कर रहे हैं.

(ओरिजिनल मलयाली कैप्शन: അച്ചൻ പ്രധാനമന്ത്രി, അച്ചന്റെ അമ്മ പ്രധാനമന്ത്രി, അമ്മൂമ്മ പ്രധാനമന്ത്രി എന്നിട്ടും ഇദ്ധേഹത്തിന്റെ ഗതി ഇതാണെങ്കിൽ സാധാരണക്കാരന്റെ കാര്യം പിന്നെ എന്ത്‌ പറയാനാ)

ये वीडियो हाथरस मामले के समय शेयर किया जा रहा है (आर्काइव लिंक). उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित लड़की के साथ कथित रेप और बर्बरता और फिर उसकी मौत के बाद राहुल गांधी परिवारवालों से मिलने गये थे. लेकिन वहां पहुंचने से पहले यूपी पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की थी. पहले दिन तो नहीं मगर दूसरे दिन, काफ़ी गहमा-गहमी के बीच वे हाथरस पहुंचे.

कई यूज़र्स ने ये वीडियो फ़ेसबुक पर शेयर किया.

इसे यूट्यूब पर भी पोस्ट किया गया था.

वीडियो में AAP विधायक अजय दत्त हैं

ऑल्ट न्यूज़ ने वीडियो वेरिफ़िकेशन टूल InVid से इस वीडियो का रिवर्स इमेज सर्च किया. हमें आम आदमी पार्टी (आप) के ऑफ़िशियल ट्विटर हैंडल पर 30 सितम्बर का एक ट्वीट मिला.

ट्वीट में बताया गया है कि आप विधायक अजय दत्त हाथरस पीड़िता के परिवार की मदद के लिए सफ़दरजंग हॉस्पिटल जा रहे थे. इसमें आगे लिखा है, “पुलिस ने उनके साथ ज़बरदस्ती की. पुलिस पीड़िता का शव परिवार के रजामंदी के बगैर बिना नंबर वाली गाड़ी में ले जा रही थी.”

अजय दत्त ने भी 3 अक्टूबर को ये वीडियो ट्वीट किया था. उन्होंने लिखा, “हाथरसकांड मे दलित बहन *** की सफ़दरजंग अस्पताल मे मृत्यु के बाद पुलिस उनके परिवारवालो को पडताडित कर रहीथी और बिनाno.की गाड़ी मे शव लेजा रही थी मैंने dcp,acp,sho को पूछा तो उन्होंने मेरेसाथ मारपिटाई की मेरी @LtGovDelhi से प्रार्थना है इनपर सख्त कार्रवाही हो VDO देखें @CPDelhi.”

आउटलुक की एक रिपोर्ट के मुताबिक अजय दत्त ने रिपोर्टर्स को बताया, “वो मुझे एक कमरे में ले गये. मेरा कॅालर पकड़कर खींचा. मुझे SHO, ACP और DCP ने थप्पड़ मारा. अगर लोगों के चुने गये प्रतिनिधि के साथ ऐसा हो रहा है तो एक आम आदमी के बारे में सोचिये.”

यानी सोशल मीडिया का ये दावा कि वीडियो में राहुल गांधी हैं, बिलकुल ग़लत है. सफ़ेद कुर्ते में दिख रहा शख्स असल में आम आदमी पार्टी विधायक अजय दत्त हैं.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.

About the Author

Archit is a senior fact-checking journalist at Alt News. Previously, he has worked as a producer at WION and as a reporter at The Hindu. In addition to work experience in media, he has also worked as a fundraising and communication manager at S3IDF.