भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) द्वारा महाराष्ट्र समेत भारत के अन्य हिस्सों में भारी बारिश होने की जानकारी देने के बाद एक वीडियो शेयर किया जाने लगा. इस वीडियो में एक शख्स सड़क किनारे कीचड़ में गिरते ही गायब होता दिख रहा है.

 

इस पोस्ट को सभी ग्रुप में भेजें एवं बरसात में सावधानी रखें
🌹🙏🌹

Posted by BABA Communication on Tuesday, June 8, 2021

कुछ लोगों ने कहा कि ये वीडियो मुंबई का है. बता दें कि मुंबई में बारिश के बाद कई जगह जलभराव की रिपोर्ट्स सामने आयीं हैं. वीडियो शेयर करते हुए लोगों को सावधानी बरतने की भी सलाह दी गयी और सभी ग्रुप्स में इसे शेयर करने की अपील भी की गयी.

ये वीडियो फ़ेसबुक और ट्विटर, दोनों सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म्स पर वायरल है. ऑल्ट न्यूज़ को मोबाइल ऐप (एंड्राइड, iOS) पर वायरल वीडियो के वेरिफ़िकेशन की कई रिक्वेस्ट भी भेजी गयीं.

एडिट किया हुआ वीडियो

वीडियो देखते हुए कुछ बातें संदेह पैदा करती हैं:

  1. कीचड़ में गिर रहे शख्स का चेहरा नहीं दिख रहा, उसे पूरी तरह हटा दिया गया है.
  2. शख्स कीचड़ में गिरने से पहले ही छाता हाथ से छोड़ देता है
  3. कथित गड्ढे में गिरते हुए वो उसके शरीर की हरकत गिरने वाली नहीं मालूम देती.

नीचे उसी वीडियो को टेनोर (tenor) पर स्लो-मोशन GIF में बदलकर दिखाया जा रहा है ताकि पाठक भी इसे गौर से देख पायें.

हमने वीडियो को फ़्रेम्स में तोड़कर कुछ चीज़ों को चिह्नित किया गया है:

  1. उसके हाथ और टीशर्ट पर बनी डिज़ाइन को गौर से देखें तो गिरते वक़्त पूरे दौरान इन दोनों की स्थिति वैसी की वैसी बनी रहती है. (पीला बॉक्स)
  2. गिरते समय उसका बायां पैर एक ही स्थिति में रुका दिखता है. (लाल निशान)
  3. उसकी जांघों के बीच दिख रही परछाईं (नीले रंग से दिखाई गयी) बदलती नहीं है. ऐसा हो ही नहीं सकता कि कोई गिरते वक़्त बिल्कुल हिले-डुले ही न.

This slideshow requires JavaScript.

एसएम होक्स स्लेयर ने पिछले साल सितम्बर में इसका फ़ैक्ट-चेक किया था और एक वीडियो ट्यूटोरियल भी अपलोड किया जिसमें एडोबी आफ़्टर इफ़ेक्ट्स की मदद से ऐसा वीडियो बनाना सिखाया गया. ये वीडियो आप नीचे देख सकते हैं.

कुल मिलाकर, एक एडिट किये हुए वीडियो को पिछले साल से शेयर किया जा रहा है और कई लोग इसे सच मान रहे हैं.


पतंजलि-आईएमए की बहस के बीच वायरल हुआ बालकृष्ण का AIIMS में भर्ती होने वाला पुराना वीडियो

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged:
About the Author

Kalim is a journalist with a keen interest in tech, misinformation, culture, etc