हाल ही में UP के गाज़ियाबाद में मुस्लिम समुदाय के एक लड़के को मंदिर परिसर में पानी पीने की वजह से पीटा गया. इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद पुलिस ने आरोपियों को गिरफ़्तार कर लिया. अब एक वीडियो शेयर करते हुए कहा जा रहा है कि ये लोग मंदिर में पानी पीने नहीं बल्कि मूर्तियों पर पेशाब करने के लिए आते हैं. यहां ‘ये लोग’ से मतलब मुस्लिम समुदाय के लोगों से है. 16 मार्च को गोपाल गोस्वामी नाम के एक यूज़र ने ये वीडियो शेयर किया है और लिखा है, “देखिये ये लोग मंदिर क्यूं आते हैं. पानी पीने ले लिए नहीं बल्कि मूर्तियों पर पेशाब करने के लिए.” (ट्वीट का आर्काइव लिंक)

प्रवीन चौहान नाम के एक यूज़र ने ये वीडियो शेयर करते हुए यही दावा किया. (आर्काइव लिंक) इसके अलावा @Dharmicbaba, @SUMITRA31974216 ने ये वीडियो शेयर किया है.

भारतीय जनता पार्टी से पूर्व सांसद हरी मांझी ने भी ये वीडियो शेयर किया और लिखा कि उन्हें ये वीडियो व्हाट्सऐप पर मिला है. रमेश सोलंकी जी खुद को हिन्दू राष्ट्रवादी कहते हैं उन्होंने ये वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “जागो हिन्दू जागो”.

फ़ैक्ट-चेक

ये वीडियो जुलाई 2019 में यूपी की घटना बताकर वायरल हुआ था. उस समय यूपी पुलिस ने इस वीडियो को वायरल करने वाले शख्स को गिरफ़्तार कर जेल भेजा था. ऑल्ट न्यूज़ को ये वीडियो 2018 में यूट्यूब पर पोस्ट किया हुआ मिला.

हमने पाया कि ये घटना अप्रैल 2018 में विशाखापट्नम ज़िले के एक गांव में हुई थी. उस समय तेलगु समाचार वेबसाइट ने इसपर ख़बर भी प्रकाशित की थी. रिपोर्ट के मुताबिक आरोपियों की पहचान आनंद और रमेश के रूप में हुई थी. रिपोर्ट में बताया गया है कि मंदिर के सुनसान जगह पर होने की वजह से उन्होंने इस घटना का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया.

तेलगु समाचार चैनल INEWS ने भी इस घटना की रिपोर्ट 11 अप्रैल, 2018 को दी थी. रिपोर्ट में बताया गया है कि विशाखापट्नम के एक गांव में ये दोनों लड़के मंदिर में ये हरकते करते हुए वीडियो बनाया और इसे वायरल कर दिया. बताया गया है कि इस घटना से गांव वाले गुस्से में थे और उन्होंने पुलिस को इस बात की जानकारी दी.

इस आधार पर की-वर्ड्स सर्च करने से हमें एक फ़ेसबुक लाइव मिला जो 10 अप्रैल 2018 का है. इस लाइव वीडियो में घटना की जानकारी दी गयी है और आरोपी का नाम रमेश बताया गया है. साथ ही ये भी बताया गया है कि आरोपी पर 66A,295A,153A के तहत केस दर्ज किया गया.

 

ఇదే ఆ దేవాలయం!
పాషండుల దురాగతాలకు, గురైన అనాధ దేవాలయం!
అనకాపల్లి మం, పిసినికాడ గ్రామ శివారు,
శ్రీశ్రీశ్రీ స్వయంభూ కాశీవిశ్వేశ్వర స్వామి వారి ఆలయం!
ॐ నమశ్శివాయః!
ఆదాయమొచ్చే ఆలయాలనే గానీ ఇలాంటి స్వయంభూ ఆలయాలు వారి దృష్టిలో ఉండవేమో శివా!!??

#వీడు_ఎక్కడ_దొరికిన హిందువులారా వీడిని మాత్రము #కొట్టి_కొట్టి #చావగొట్టండి_😡🐑✝😡

శివాలయం లో అపచారం చేసిన వాడి పేరు
జగన్నాధ. రమేష్ s/o వెంకన్న
తల్లి పేరు పెంటమ్మ
,D.B.Colony
రామ బద్రాపురం
పిసిన కాడ పంచాయతీ
అనకాపల్లి మండలం
విశాఖపట్నం జిల్లా
వాడి వృత్తి పాముల గారడీ
వాడిపైన నమోదైన సెక్షన్లు
66A,295A,153A

Posted by Ramesh Devarapalli on Tuesday, 10 April 2018

यानी, लगभग तीन साल पुराना एक वीडियो शेयर करते हुए मुस्लिम समुदाय पर निशाना साधा जा रहा है. जबकि आरोपी की पहचान कर उसपर कार्रवाई भी की जा चुकी है.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged: