असम के ढुबरी से सांसद मौलाना बदरुद्दीन अजमल का एक वीडियो वायरल है जिसमें उन्हें असमी भाषा में कहते हुए सुना जा सकता है, “इसी भारत पर मुग़लों ने 800 साल राज किया. इस देश को इस्लामिक राष्ट्र बनायेंगे. मंत्रालय में कौन बैठेगा? हमारा महागठबंधन. कांग्रेस UPA महागठबंधन की सरकार बनेगी. और सरकार में अपनी पार्टी, AIUDF ताला चाभी की भागीदारी होगी. पूरे देश में एक हिन्दू भी नहीं होगा. हर कोई मुसलमान होगा.”

विश्व हिन्दू परिषद के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने इस वायरल वीडियो का लिंक शेयर करते हुए एक ट्वीट थ्रेड लिखा जिसमें उन्होंने बदरुद्दीन अजमल को ‘जिहादी’ बताया. साथ ही उन्होंने कहा कि AIUDF चीफ़ ने भारत को मुस्लिम राष्ट्र बनाए जाने की बात कही है.

दूरदर्शन के पत्रकार अशोक श्रीवास्तव ने भी ये वीडियो शेयर करते हुए लिखा, “भारत पर बरसों मुगलों ने शासन किया, और भविष्य में भी भारत इस्लामिक राष्ट्र बनेगा”. मिलिये “सेकुलर” कांग्रेस के नए सहयोगी बदरुद्दीन अजमल से.” इसी तरह ABP न्यूज़ ऐंकर आस्था कौशिक और इंडिया टीवी की ऐंकर अर्चना सिंह ने ये वीडियो शेयर किया और कांग्रेस से सवाल पूछे.

न्यूज़ नेशन के पत्रकार दीपक चौरसिया ने भी बिना वीडियो शेयर किये एक ट्वीट में लिखा, “भारत पर बरसों मुगलों ने शासन किया, और भविष्य में भी भारत इस्लामिक राष्ट्र बनेगा” :- बदरुद्दीन अजमल.” दीपक चौरसिया के ट्वीट को भाजपा कार्यकर्ता विकास प्रीतम सिन्हा ने भी कोट-ट्वीट किया.

इनके अलावा, न्यूज़ आउटलेट एशियानेट न्यूज़ और स्थानीय न्यूज़ आउटलेट्स, न्यूज़ लाइव, आर नॉर्थ ईस्ट, @VoiceOfAxom (पीएम मोदी द्वारा फ़ॉलो किया जाने वाला हैंडल), VSK ASSAM और DY365 ने भी ये वीडियो शेयर किया.

ये वीडियो राइट विंग ट्विटर हैंडल हिन्दू ईकोसिस्टम और भाजपा सदस्य सुरेन्द्र पूनिया ने भी शेयर करते राहुल गांधी से AIUDF के साथ गठबंधन पर सवाल किया. इनके अलावा, वेरिफ़ाइड ट्विटर यूज़र विक्रांत, ट्विटर हैंडल @Legallro, पीएम मोदी द्वारा फ़ॉलो किया जाने वाला हैंडल @SouleFacts, @abdullah_0ma और RSS सदस्य रतन शारदा समेत और भी कई लोगों ने ये वीडियो शेयर किया. आर्टिकल लिखे जाने तक रतन शारदा का ट्वीट 1,200 से ज़्यादा लोग रीट्वीट कर चुके हैं.

एडिटेड वीडियो

AIUDF के विधायक हाफ़िज़ रफ़ीकुल इस्लाम ने ट्वीट कर बताया कि मौलाना बदरुद्दीन अजमल का एडिटेड वीडियो शेयर किया जा रहा है. साथ ही उन्होंने ओरिजिनल वीडियो भी शेयर किया जिसे यूट्यूब पर 1 साल पहले अपलोड किया गया था. हाफ़िज़ रफ़ीकुल का ट्वीट खुद बदरुद्दीन अजमल ने भी रीट्वीट किया.

वायरल वीडियो 34 सेकंड्स और 36 सेकंड्स के हैं. बदरुद्दीन अजमल के भाषण का वीडियो 21 मिनट का है. इसके डिस्क्रिप्शन में बताया गया है कि ये वीडियो असम के बारपेटा का है. इसे 17 अप्रैल, 2019 को अपलोड किया गया था. इस वीडियो के 5 मिनट 50 सेकंड से लेकर 8 मिनट 20 सेकंड के हिस्से को क्लिप किया गया है.

हम उन लाइन्स को बोल्ड कर रहे हैं जो वायरल वीडियो में आप सुन सकते हैं.

इस वीडियो में एमपी मौलाना बदरुद्दीन अजमल कह रहे हैं, “इसी भारत पर मुग़ल बादशाहों ने 800 साल राज किया. किसी ने ऐसा सपना नहीं देखा, किसी की इतनी हिम्मत नहीं हुई कि इस देश को इस्लामिक राष्ट्र बना दे. अगर वो चाहते तो 800 साल में एक भी हिन्दू नहीं रहता सबको मुसलमान बना देते. लेकिन क्या उन्होंने ऐसा किया? (भीड़ ‘ना’ में जवाब देती हुई). उन्होंने हिम्मत नहीं की. उसके बाद अंग्रेजों ने 200 साल राज किया. उन्होंने भी देश को इसाई राष्ट्र बनाने की कोशिश नहीं की. उन्होंने भी हिम्मत नहीं की. क्या थी उनमें हिम्मत? (भीड़ ‘ना’ में जवाब देती हुई). इसके बाद भारत आज़ाद हुआ. 70 सालों में कांग्रेस ने 55 साल राज किया. जवाहर लाल नेहरू से लेकर, शास्त्री, राजीव गांधी, मनमोहन सिंह और नरसिम्हा राव नेता रहे. किसी ने भी भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाने की कोशिश नहीं की. लेकिन मोदीजी, ये सपना मत देखिये, ये सपना झूठा हो जाएगा. इस बार मोदीजी, भाजपा, आरएसएस, हेमंत बिस्वा शर्मा ऐंड पार्टी को जवाब दीजिये. ताला चाभी पर वोट दीजिये ताकि मोदीजी प्रधानमंत्री न बनें. मिनिस्ट्री किसकी बनेगी? हमारे गठबंधन की. इंशाल्लाह, कांग्रेस UPA महागठबंधन की सरकार बनेगी और आपकी पार्टी AIUDF ताला चाभी की इसमें भागीदारी होगी.”

इस वीडियो को बड़ी ही चालाकी से एडिट करके ये दिखाने की कोशिश की गयी है कि ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ़्रंट के संस्थापक और लोकसभा सदस्य बदरुद्दीन अजमल ने भारत को मुस्लिम राष्ट्र बनाने की बात कही. ये एडिटेड क्लिप कई पत्रकारों, मीडिया आउटलेट्स और राइट विंग हैंडल्स ने शेयर कर हजारों-लाखों लोगों तक पहुंचायी.

साम्प्रदायिक अस्थिरता बढ़ाने वाले ऐसे पोस्ट्स पहले भी शेयर किये जाते रहे हैं. पिछले साल ऑल्ट न्यूज़ ने दो ऐसी ही क्लिप्स का फ़ैक्ट चेक किया था जब सामाजिक कार्यकर्ता हर्ष मंदर पर हिंसा भड़काने के आरोप लगाये गए थे. (पहली रिपोर्ट, दूसरी रिपोर्ट)

ग़लत दावा करने वाले वो पोस्ट्स जिनका हमने इस रिपोर्ट में ज़िक्र किया है, उनके स्क्रीनशॉट देखे जा सकते हैं.

This slideshow requires JavaScript.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged:
About the Author

A journalist and a dilettante person who always strives to learn new skills and meeting new people. Either sketching or working.