सोशल मीडिया पर एक व्यक्ति को भीड़ द्वारा पीटने का वीडियो काफ़ी शेयर किया जा रहा है. दावा है कि भीड़ जिस व्यक्ति की पिटाई कर रही है वो कांग्रेस के प्रत्याशी फूल सिंह बरैया है. 1 मिनट 23 सेकंड का ये वीडियो इसी दावे से फ़ेसबुक और ट्विटर पर वायरल है.

21 दिसम्बर को पंडित योगेश नाम के एक यूज़र ने ये वीडियो शेयर करते हुए लिखा है, “हिन्दुओ पर अभद्र टिप्पणी करने वाले कांग्रेस प्रत्याशी फूल सिंह बरैया की लोगो ने की जमकर पिटाई* *वीडीओ हुवा वाइरल.”

 

*हिन्दुओ पर अभद्र टिप्पणी करने वाले कांग्रेस प्रत्याशी फूल सिंह बरैया की लोगो ने की जमकर पिटाई*
*वीडीओ हुवा वाइरल*

Posted by पंडित योगेश on Monday, 21 December 2020

अक्टूबर से वायरल

ट्विटर यूज़र उमा शंकर राजपूत ने ये वीडियो इसी दावे के साथ 6 अक्टूबर को ट्वीट किया. इसे 32 लाख बार देखा और 1,500 बार रीट्वीट किया गया. अब इसे डिलीट कर लिया गया है लेकिन ट्वीट का आर्काइव लिंक आप यहां देख सकते हैं.

कई मौकों पर ग़लत जानकारी फ़ैलाने के लिए पहचाने जाने वाले आकाश RSS ने भी ये वीडियो कुछ इसी तरह के दावों के साथ ट्वीट किया.

बता दें कि मध्यप्रदेश विधानसभा के उपचुनावों में कांग्रेस ने दतिया ज़िले की भांडेर सीट से फूल सिंह बरैया को उम्मीदवार बनाया है. इसी बीच उनके एक विवादित बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. इस वीडियो में फूल सिंह बरैया कह रहे हैं, “अभी भी वक़्त है अगर हम लोग कमज़ोर पड़ गए तो वो लोग संविधान बदल कर हिन्दू राष्ट्र बना देंगे और अगर हम लोग मज़बूत बने तो ये कह ज़रूर रहे हैं कि मुसलमानों को खदेड़ देंगे, लेकिन हम इन्हें ही खदेड़ देंगे”. इस बयान को लेकर कथित ऊंची जाती के लोग फूल सिंह बरैया के खिलाफ़ नाराज़गी जता रहे हैं.

फ़ेसबुक यूज़र राजपूत ने भी ये वीडियो कांग्रेस उम्मीदवार फूल सिंह बरैया का बताते हुए पोस्ट किया. ये पोस्ट आर्टिकल लिखे जाने तक 1,200 बार शेयर की गई है. (आर्काइव लिंक)

जरा ये वीडियो देख के बताओ – सवर्णो की औरतों को अपने घर रखने की बात कहने वाले कांग्रेस उम्मीदवार फूल बरैया के स्वागत में कोई कमी तो नही रही न्
🚩करणी सेना जिन्दाबाद 🗡

Posted by RAJPUT on Tuesday, 6 October 2020

एक और ट्विटर यूज़र ने ये वीडियो इसी दावे के साथ ट्वीट किया है. (ट्वीट का आर्काइव वर्ज़न)

फ़ैक्ट-चेक

इस वीडियो की जांच ऑल्ट न्यूज़ ने जुलाई 2020 में ही की थी. तब ये वीडियो एक दूसरे वीडियो के साथ जोड़कर भाजपा नेता पर हमला होने के दावे से शेयर हो रहा था. इसके अलावा, ये वायरल वीडियो हाल ही में केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन पर हमला होने के दावे से शेयर किया गया था. ये वीडियो असल में बाबुल सुप्रियो के काफ़िले पर हुए हमले का है जो अक्टूबर 2016 में हुआ था. ABP न्यूज़ ने 19 अक्टूबर 2016 की अपनी वीडियो रिपोर्ट में बताया था कि पश्चिम बंगाल के आसनसोल में बीजेपी नेता बाबुल सुप्रियो के काफ़िले पर तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों ने हमला किया था.

20 अक्टूबर 2016 की पत्रिका की रिपोर्ट में बताया गया है कि कुछ दिनों पहले भाजपा समर्थकों ने गौ-तस्करी का आरोप लगाते हुए कुछ कसाइयों को पीटा था. इसके बाद भाजपा समर्थक तृणमूल कांग्रेस नेता मलय घटक के घर के सामने प्रदर्शन करने वाले थे. लेकिन इससे पहले ही बाबुल सुप्रियो पर हमला हो गया. इस हमले में ज़िला भाजपा नेता सुब्रत मिश्रा भी घायल हुए थे. बाबुल सुप्रियो ने अपने ऊपर हुए हमले के बाद ट्वीट करते हुए तृणमूल कांग्रेस नेता मलय घटक पर हमला करवाने का आरोप लगाया था.

ANI ने एक ट्वीट में इस बात की जानकारी दी थी. इन तस्वीरों में वो व्यक्ति भी दिख रहे हैं जिनपर हमला हुआ था.

इस तरह, अक्टूबर 2016 में भाजपा नेता बाबुल सुप्रियो के काफ़िले पर हुए हमले का वीडियो वायरल हुआ. इसमें भाजपा नेता सुब्रत मिश्रा घायल हुए थे. इस वीडियो के बारे में कहा जा रहा है कि कांग्रेस प्रत्याशी फूल सिंह बरैया पर हमला किया गया. ये दावा सरासर गलत है.

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.