प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 75 शहरी परियोजनाओं का उद्घाटन करने के लिए उत्तर प्रदेश के तीन दिवसीय दौरे पर थे. 5 अक्टूबर को वीडियो कॉल पर पीएम से बात करने के लिए कुछ लोगों को आमंत्रित किया गया था. इस वीडियो कॉल के दौरान PM मोदी ने एक महिला से पूछा कि क्या उसे पीएम स्वनिधि योजना का लाभ मिला है. महिला ने जवाब दिया, “नहीं, हमें कुछ नहीं मिला.” संबोधन के इस हिस्से को विपक्षी दलों और नेताओं ने पीएम पर निशाना साधने के लिए शेयर किया. इसके ज़रिये ये दिखाने की कोशिश की गयी कि उस महिला ने पीएम स्वनिधि योजना के लिए आवेदन किया था लेकिन उसे इसका लाभ नहीं मिला.

वीडियो शेयर करने वाले कांग्रेस सदस्यों में श्रीनिवास बीवी, अलका लांबा, इमरान प्रतापगढ़ी और RJ रिया शामिल थे. ट्विटर यूज़र रवि नायर @t_d_h_nair ने भी वीडियो ट्वीट किया.

भ्रामक दावा

प्रधानमंत्री कई लोगों से अलग-अलग कल्याणकारी योजनाओं के बारे में बात कर रहे थे. लोगों से उन्होंने पूछा कि किस लाभ के लिए आवेदन किया था और क्या उन्हें लाभ मिला. बबीता नामक महिला ने कहा कि उनके परिवार को पीएम स्वनिधि योजना का लाभ नहीं मिला है. उसने ये नहीं कहा कि इस योजना के लिए आवेदन करने के बाद उसे लाभ नहीं मिला. प्रधानमंत्री बाद में उसे बताते हैं कि स्वनिधि योजना के लिए वो कैसे आवेदन कर सकती हैं. बातचीत इस प्रकार है (नीचे दिए गए वीडियो में ये बातचीत 1 घंटे 42 मिनट के बाद देखी जा सकती है):

पीएम मोदी: आपको पीएम स्वनिधि योजना से कोई लाभ मिला है क्या?

महिला: नहीं साहब, कुछ नहीं मिला.

पीएम मोदी: अच्छा, देखिये आप इसका फ़ायदा उठाइए. आप बैंक वालों से मिलिए, उनको कहिये कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना है. और हमारा यहां मकान है…तो हम चाहते हैं इससे जुड़ना. तो वो आपको 10 हज़ार रुपये देंगे और 10 हज़ार रुपये से आप अपना कारोबार आगे बढ़ा सकते हैं. और वो भी अगर आप डिजिटल करते हैं तो उसे देखकर वो 20 हज़ार करेंगे. फिर अगर आपने कुछ और अच्छा किया तो आगे चल के 50 हज़ार देंगे. अगर आपका कारोबार बराबर चला, बैंक से लेन-देन बराबर चला तो आपको ये जो बाहर से ब्याज लेकर लेना पड़ता है वो सब बच जाएगा. तो ऐसी योजनाएं हैं अगर आप फ़ायदा उठाएंगें तो. उठाएंगें?

महिला : हां सर.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री ने बबिता से उसकी शिक्षा, पारिवारिक व्यवसाय और उसके घर के बारे में पूछकर बातचीत शुरू की थी. करीब 1 घंटे 41 मिनट पर पीएम मोदी ने उनसे उनके पति के कारोबार के बारे में पूछा. महिला ने बताया कि वो बकरियां पालता है. अपने काम को संक्षेप में समझाने के बाद, उसने कहा कि उसका परिवार कच्चे घर से एक पक्के घर में शिफ्ट हो गया था. जिस पर पीएम मोदी ने पूछा, “सरकार से आपको कितना पैसा मिला?” महिला ने जवाब दिया, “ढाई लाख रुपये.” नरेंद्र मोदी ने बताया कि ये जन धन खातों के कारण संभव हुआ.

उसके बाद नरेंद्र मोदी ने जन धन योजना, फिर पीएम स्वनिधि योजना और अंत में उज्ज्वला योजना के बारे में बातचीत की.

महिला के साथ पीएम की पूरी बातचीत का एक छोटा हिस्सा ऑनलाइन शेयर किया गया ताकि गलत तरीके से ये दिखाया जा सके कि महिला के परिवार को पीएम स्वनिधि योजना का कोई लाभ नहीं मिला है. लेकिन इस हिस्से से आगे बढ़ने पर पता चलता है कि परिवार ने अभी तक इस योजना के लिए आवेदन नहीं किया था. इसलिए पीएम मोदी ने उन्हें बताया कि वो कैसे इसका लाभ उठा सकते हैं. इससे पहले बातचीत में महिला ने ये भी बताया कि उसके परिवार को उसके जनधन खाते में सरकार की ओर से ढाई लाख रुपये मिले थे.


CAA, NRC और अमित शाह की आलोचना कर रहा शख्स गुजरात के स्कूल का शिक्षक नहीं, ग़लत दावा वायरल

डोनेट करें!
सत्ता को आईना दिखाने वाली पत्रकारिता का कॉरपोरेट और राजनीति, दोनों के नियंत्रण से मुक्त होना बुनियादी ज़रूरत है. और ये तभी संभव है जब जनता ऐसी पत्रकारिता का हर मोड़ पर साथ दे. फ़ेक न्यूज़ और ग़लत जानकारियों के खिलाफ़ इस लड़ाई में हमारी मदद करें. नीचे दिए गए बटन पर क्लिक कर ऑल्ट न्यूज़ को डोनेट करें.

Donate Now

बैंक ट्रांसफ़र / चेक / DD के माध्यम से डोनेट करने सम्बंधित जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.
Tagged:
About the Author

Pooja Chaudhuri is a senior editor at Alt News.